लिफ़्ट के बहाने ठगने वाले गिरोह का पर्दाफ़ाश

0
559

देहरादून पुलिस को उस समय बड़ी कामयाबी मिली जब पुलिस ने शहर मे लिफ़्ट देने के बहाने लोगों को ठगने वाले गिरोह का पर्दाफ़ाश करा। राजधानी की एसएसपी स्वीटी अग्रवाल ने बुधवार को इस मामले में पत्रकारों को जानकारी दी। उन्होने बताया कि देहरादून में सक्रिय डकैती की घटनाओं में शामिल कुल 9 अपराधियों को गिरफ्तार किया गया है जिनके कब्जे से पूर्व की 05 घटनाओं से सम्बंधित कैश व ज्वैलरी व पीड़ितों के पहचान पत्र बरामद हुए हैं। पकड़े गए सभी अपराधी शातिर किस्म के हैं तथा ज्यादातर दिल्ली के रहने वाले हैं। इनमें से एक व्यक्ति जगत सिंह बिष्ठ चमोली का रहने वाला है जो इस गैंग का सरगना भी है वह पहले भी ऐसी घटनाओं के लिए जेल जा चुका है और बुधवार को थाना नेहरु कालोनी क्षेत्र में हरिद्वार बाईपास रोड पर स्थित पुलिस टीम द्वारा गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ पर इन्होने अपराध में शामिल होना स्वीकार किया गया है।इनके बताने पर इनके द्वारा इस्तेमाल में लाने वाले वाहनों से छुपाई हुई असली नंबर प्लेट बरामद की गई है। इन सभी लोगों से  कैश के साथ साथ छोटे बड़े आभूषण भी जब़्त किये गये हैं।

देहरादून के शहर व देहात इलाक़ों से पिछले कुछ महींनों से ठगी की घटनाएं रिर्पोट हो रहीं थी। जांच करने पर पता चला कि इन घटनाओं में सक्रिय लोग ऐसी जगहों पर घात लगाकर तैयार होते थे जहां से लोग सफर के लिये सवारी गाड़ियों में बैठने का इंतजार करते हैं। ये लोग ख़ासतौर पर ज्यादा उम्र की महिलाएं,पुरुषों से बातचीत कर उनको अपने चार पहिया वाहनों में बैठने के लिए तैयार कर लेते थे और अपनी गाड़ी में कुछ दूरी पर ले जाने के बाद गाड़ी में सरकारी कैश या पार्सल होने की बात कहकर यात्री का सारा सामान जैसे कि कैश व ज्वैलरी पीले रंग के लिफाफों में रखवा लेते थे और धोखे से लिफाफे बदलकर यात्री की सारी सम्पत्ति लेकर यात्री को दूसरे स्थान से अन्य सरकारी कैश व पार्सल लेने के नाम पर अपनी गाड़ी से उतार देते थे।तथा वहीं पर इन्तजार करने को कहकर रफूचक्कर हो जाते थे।