तुफान में फंसा पर्वतारोही दल, तीन की जान बची

0
179

पिथौरागढ़- बर्फीली पहाडियों पर शिखर को छूने की हसरत लिये निकला एक दल अचानक मुश्बतों से घिर गया और दूसरी सबसे ऊंची चोटी पर चढाई के दौरान दस सदस्यों की टीम बर्फीले तूफान में फंस गया जिससे टीम के तीन सदस्य डेढ सौ मीटर गहरी खाई में गिर गये, लेकिन किसी तरह से तीनों सकुशक बच गये।

गौरतलब है कि कुमाऊं मंडल विकास निगम और महिंद्रा एंड महिंद्रा के बैनर तले गया दल बर्फीले तूफान के चलते अभियान बीच में छोड़ कर लौट आया है। पंचाचूली-5 चोटी 6437 मीटर के आरोहण को 18 अक्टूबर को 10 सदस्यीय पर्वतारोही दल रवाना हुआ था। इनके अलावा सात गाइड, हैल्पर और पोटर शामिल थे, जिन्हें आधार शिविर तक जाना था। धारचूला से दारमा के दांतू गांव पहुंच कर दल ने 21 अक्टूबर से अभियान शुरू किया। दल के लीडर धारचूला निवासी एवरेस्ट विजेता योगेश गब्र्याल थे। 42 सौ मीटर की ऊंचाई पर दल ने बेस कैंप बनाया था। जहां से आरोहण प्रारंभ हुआ।

पर्वतारोही जब 5500 मीटर की ऊंचाई पर पहुंचे तो तेज बर्फीला तूफान आ गया।। अचानक एवलांच आने से तीन पर्वतारोही लगभग 150 मीटर नीचे खाई में जा गिरे। इस दौरान सभी के कमर में रस्सी बंधी होने से तीनों पर्वतारोही बाल-बाल बच गए। साथियों ने उन्हें रस्सी खींच कर निकाला। इसके बाद पर्वतारोही दल को वापस लौटना पड़ा। टीम लीडर योगेश गर्ब्याल  ने बताया कि टीम अब जून 2019 में पंचाचूली-5 के आरोहण का अभियान चलाएगी।

टीम में योगेश गर्ब्याल टीम लीडर मुकेश गर्बायल,  शीतल राज कर्मा, अशुंल ह्यांकी, चंद्रमोहन पांडेय, वंदना खैर, हेमोंता बोरा, स्वप्निल, गाइड हैल्पर पोर्टर पसांग, शेरपा दवा लामा, पैम्बा, गणेश, दुग्ताल, नवीन ग्वाल, प्रताप।