अनिल कपूर और शेखर कपूर को ‘मिस्टर इंडिया’ के रीमेक की सूचना नहीं देने पर भड़कीं सोनम कपूर आहूजा

0
413
जब से फिल्ममेकर अली अब्बास जफर ने शेखर कपूर की फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ के रीमेक की घोषणा की है तभी से सोशल मीडिया पर लोगों की प्रतिक्रिया आ रही है। 1987 में रिलीज हुई फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ के निर्देशक शेखर कपूर के बाद अब सोनम कपूर ने रीमेक बनने की खबर पर अपनी नाराजगी जाहिर की है। अभिनेत्री ने कहा कि न तो शेखर कपूर और न ही अनिल कपूर को फिल्म के रीबूट की आधिकारिक घोषणा करने से पहले सूचित किया गया या उनसे सलाह ली गई। दिग्गज अभिनेता अनिल कपूर की बेटी और अभिनेत्री सोनम कपूर आहूजा ने कहा कि यह अपमानजनक है कि क्लासिक फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ की मूल रचनाकारों को शामिल नहीं किया गया है। फिल्म के रीमेक को अली अब्बास जफर द्वारा निर्देशित किया जा रहा है। इस हफ्ते की शुरुआत में जी स्टूडियोज ने घोषणा किया कि अली अब्बास जफर ‘मिस्टर इंडिया’ के रीमेक को निर्देशित करेंगे। 1987 में शेखर कपूर द्वारा निर्देशित फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ में अनिल कपूर मिस्टर इंडिया और दिवंगत अभिनेत्री श्रीदेवी एक पत्रकार की भूमिका निभाई थी।
सोनम कपूर आहूजा ने सोशल मीडिया पर अपनी नाराजगी व्यक्त की है। उन्होंने ट्वीट किया-‘बहुत सारे लोग मुझसे ‘मिस्टर इंडिया’ के रीमेक के बारे में पूछ रहे हैं। ईमानदारी से मेरे पिता को भी नहीं पता था कि फिल्म का रीमेक बनाया जा रहा है, हमें इसके बारे में सोशल मीडिया के माध्यम से पता चला जब अली अब्बास जफर ने ट्वीट किया। किसी ने भी मेरे पिता या शेखर अंकल से इस फिल्म को लेकर बात नहीं की है, जिन्होंने फिल्म को बनाने में एक प्रमुख भूमिका निभाई थी। उन दोनों का फिल्म बनाने में बड़ा योगदान था। यह बहुत दुख की बात है। क्योंकि मिस्टर इंडिया मेरे पिता के दिल के काफी करीब है और इस फिल्म के लिए उन्होंने काफी मेहनत की थी। यह फिल्म उनकी विरासत का एक हिस्सा रही है।’ मुझे उम्मीद है कि उन्हें किसी के काम और योगदान के लिए सम्मान करना चाहिए। यह बॉक्स ऑफिस पर एक बड़ा वीकेंड जितना महत्वपूर्ण है।’ सोनम कपूर ने शेखर कपूर के ट्वीट को रिट्वीट भी किया।
शेखर कपूर ने ट्वीट किया था-‘किसी ने भी न तो मुझे बताया और न ही मुझसे ‘मिस्टर इंडिया 2′ के बारे में चर्चा की है। मैं केवल अनुमान लगा सकता हूं कि वे इस टाइटल का इस्तेमाल करके वीकेंड पर अच्छी कमाई करना चाहते हैं। इसके लिए वे बिना इजाजत के कहानी या किरदारों का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं।’
अली अब्बास जफर ने सोशल मीडिया पर ‘मिस्टर इंडिया’ ट्रायोलॉजी की घोषणा की थी। उन्होंने लिखा था कि ‘जी स्टूडियो की साझेदारी के साथ ‘मिस्टर इंडिया’  की ट्रायोलॉजी के लिए काफी उत्साहित हूं। शेखर कपूर ने 1987 में ‘मिस्टर इंडिया’ के रूप में हिंदी सिनेमा को अपनी सबसे यादगार और सुखद फिल्मों में से एक दिया। इस फिल्म ने अनिल कपूर और श्रीदेवी को स्टारडम के आसमान तक पहुंचाया और उन्हें हर बच्चे का पसंदीदा बना दिया। इस फिल्म में अमरीश पुरी द्वारा निभाए गए खलनायक ‘मोगैंबो’ का किरदार आज भी अमर है और उस फिल्म का ‘मोगैंबो खुश हुआ’ डायलॉग आज भी लोगों के जुबान से उतरा नहीं है। ‘मिस्टर इंडिया’ को आइकॉनिक फिल्म माना जाता है। फिल्म का निर्देशन शेखर कपूर ने किया था। फिल्म के एक्शन को वीरू देवगन ने कोरियोग्राफ ने किया था।