सितारगंज में बनेगा प्रोद्योगिकी केन्द्र प्रणाली टूल रूम (टीसीएमपी)

0
534

केन्द्रीय सूक्ष्म,लघु एवं मध्यम मंत्री श्री कलराज मिश्र एवं मुख्यमंत्री श्री हरीश रावत ने आज सिडकुल सितारगंज में प्रोद्योगिकी केन्द्र प्रणाली टूल रूम  (टीसीएमपी) के निर्माण का पूजा अर्चना के बाद आधारशिला रखी। इस परियोजना पर लगभग 2200 करोड रूपये की लागत आयेगी जिसमें विश्व बैंक की 200 मिलियन अमेरिकी डाॅलर का ऋण भी शामिल है। टूल केन्द्र के बन जाने से यहां के युवाओं को तकनीकी प्रशिक्ष्ण प्राप्त करने का सुनहरा मौका मिलेगा तथा वे स्वरोजगार के लिये  आत्म निर्भर हो सकेंगे।

श्री मिश्र ने अपने सम्बोधन में कहा कि यह प्रौद्योगिकी केन्द्र उद्यम मंत्रालय  भारत सरकार द्वारा स्थापित किये जाने वाले 15 केन्द्रों में एक है।  इन केन्द्रों का समयबद्ध तरीके से उद्घाटन किया जायेगा। उन्होंने कहा कि इस तकनीकी केन्द्र के निर्माण से जहां युवक विभिन्न टेªडों में तकनीकी प्रशिक्षण प्राप्त कर विभिन्न कम्पन्यिों में रोजगार के अवसर प्राप्त करेंगे वही उद्यमियों को कुशल व दक्ष श्रमिक भी उपलब्ध होगें। श्री मिश्र ने कहा कि इन तकनीकी केन्द्र पर बीएससी,एमएससी,एमटेक ,वीटेक के लोग भी प्रवेश पाकर तकनीकी ज्ञान अर्जन कर सकेगे। उन्होंने कहा कि उद्योगों के विकास पर तेजी से कार्य किया जा रहा है तथा कलस्टर के रूप में उद्योग विकसित करने के लिये उन्होंने 30 करोड की धनराशि उपलब्ध कराने की घोषणा की । उद्योग स्थापना के कुछ कार्यक्रमों का सरलीकरण कर दिया गया है 14वें वित्त आयोग द्वारा उद्योगो कों धनराशि दी जा रही है।

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने कहा कि टूल केन्द्र का निर्माण किया जाना क्षेत्र के लिये उपलब्धि है। यह टूल केन्द्र 20 एकड क्षेत्र में विकसित होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि नीति आयेाग के अनुसार हम व्यापारिक पारदशिर्ता के क्षेत्र में हम 23वें स्थान से 9वें स्थान में आये है जिसे और और अधिक सुधारने के लिये प्रयासरत है।

इस अवसर पर पर भारत सरकार अपर सचिव उद्योग सुरेन्द्र नाथ त्रिपाठी,मण्डलायुक्त डी0 सेंथिल पांडियन,जिलाधिकारी चन्द्रेश कुमार,एसएसपी संेिथिल अबुदई,जिला अध्यक्ष कांग्रेस नारायण सिंह बिष्ट समेत कई जनप्रतिनिधि एवं अधिकारी उपस्थित थें।