यूरोप की माउंट एलब्रुस को नापेंगे एसडीआरएफ के राजेंद्र नाथ

0
526
एसडीआरएफ

एसडीआरएफ वाहिनी मुख्यालय जॉलीग्रांट से आरक्षी राजेन्द्र नाथ यूरोप सबसे ऊंची चोटी, माउंट एलब्रुस को फतह करेंगे। सेनानायक एसडीआरएफ नवनीत सिंह ने उन्हें पुलिस प्रतीक चिह्न देकर रवाना किया गया। 360 माउंट एक्सप्लोरर मुम्बई द्वारा 9 अगस्त से 17 अगस्त 2021 तक यूरोप महाद्वीप की सबसे ऊंची चोटी माउंट एलब्रुस (5642 मीटर) पर एक्सपीडिशन का आयोजन किया गया है जिसका उद्देश्य भारतीय स्वतंत्रता दिवस(15 अगस्त 2021) को माउंट एलब्रुस पर भारतीय ध्वज फहराना है। 8 अगस्त को दिल्ली में एक्सपीडिशन टीम की फ्लैग ऑफ सेरेमनी की जाएगी, जिसके पश्चात ये हवाई मार्ग से यूरोप के लिए रवाना होंगे।

पुलिस बल में इतने सालों के अनुभव का लाभ निश्चित तौर पर आरक्षी राजेन्द्र नाथ को मिलेगा। वह वर्ष 2001 से उत्तराखंड पुलिस में सेवा दे रहे है। आरक्षी राजेन्द्र नाथ पूर्व में भी एक कीर्तिमान हासिल कर चुके हैं जिसमें यह उत्तराखंड के प्रथम पुलिसकर्मी बने है जिन्होंने माउंट त्रिशूल (7120 मीटर) का सफलतापूर्वक आरोहण किया है। माउंट त्रिशूल को पर्वतारोहियों द्वारा प्री- एवरेस्ट समिट के रूप में किया जाता है। राजेन्द्र नाथ द्वारा पूर्व में भी सतोपंथ, चंद्रभागा-13(6264 मीटर) एवं डीकेडी-2 (5670 मीटर) का भी सफलतापूर्वक आरोहण किया गया था।

इनके सफल पर्वतारोहण अभियान के लिए सेनानायक एसडीआरएफ नवनीत सिंह, उपसेनानायक अजय भट्ट, सहायक सेनानायक कमल सिंह पंवार, अनिल शर्मा, शिविरपाल राजीव रावत, निरीक्षक प्रमोद रावत, ललिता नेगी, हरक सिंह राणा , प्रेम सिंह नेगी , सूबेदार मेजर जयपाल सिंह राणा, उप-निरीक्षक पूनम शाह, विजय रयाल ,सहायक उप- निरीक्षक आलोक चंद एवं अन्य अधिकारियों/ कर्मचारियों द्वारा शुभकामनाएं दी गई।