उत्तराखंड में गर्मी के झटकों से चढ़ा बिजली का ‘पारा’, 60 एमयू पहुंची बिजली की खपत

0
84
बिजली

उत्तराखंड में मौसम का मिजाज बहुत गर्म है। तापमान में उतार-चढ़ाव का क्रम बना हुआ है। प्रचंड ताप से राहत पाने को लोग एयर कंडीशनर, कूलर, पंखे जैसे विद्युत यंत्रों की मदद ले रहे हैं। गर्मी के झटकों के बीच उपकरणों का प्रयोग बढ़ने से राज्य में बिजली की खपत दोगुना बढ़ गयी है। प्रदेश में दैनिक विद्युत मांग रिकार्ड 60 मिलियन यूनिट (एमयू) पहुंच गई है। ऐसे में ऊर्जा निगम की मुश्किलें दिनों-दिन बढ़ती जा रही हैं।

मई की शुरुआत से उत्तराखंड में भीषण गर्मी पड़ रही है। ऐसे में उत्तराखंड में बिजली की मांग में लगातार इजाफा हो रहा है। पारा चढ़ने के साथ प्रदेश में बिजली की खपत 60 मिलियन यूनिट बनी हुई है। हालांकि ऊर्जा निगम तमाम स्रोतों से बिजली प्राप्त कर मांग के सापेक्ष उपलब्धता बनाने का प्रयास कर रहा है। ऊर्जा निगम के अधिकारियों के अनुसार सामान्य दिनों में राज्य में 30 से 35 मिलियन यूनिट बिजली की जरूरत होती है। जबकि मई में यह डिमांड 60 मिलियन यूनिट तक पहुंच गई है। अधिकारियों के अनुसार अप्रैल से ही गर्मी बढ़ने के साथ बिजली की डिमांड बढ़ने लगी थी। उनका कहना है कि बिजली की डिमांड बढ़ने की स्थिति यही रही तो परेशानी बढ़ सकती है।

उत्तराखंड पावर कारपोरेशन लिमिटेड कांवली रोड देहरादून के परिचालन निदेशक इंजीनियर एमआर आर्य ने हिन्दुस्थान समाचार से बातचीत में बताया कि भीषण गर्मी के कारण वर्तमान में राज्य में 60 मिलियन यूनिट बिजली की खपत है, जो सामान्य दिनों की अपेक्षा दोगुना है। सामान्य दिनों में इससे आधा यानी 30 से 35 मिलियन यूनिट बिजली की खपत होती है। वर्तमान में 40 प्रतिशत घरेलू तो कामर्शियल में 60 प्रतिशत मिलियन यूनिट के आसपास डिमांड है। राज्य में कुल 28 लाख उपभोक्ता हैं। इसमें से 21 लाख घरेलू तो सात लाख कामर्शियल हैं। ऊर्जा निगम के परिचालन निदेशक ने बताया कि वर्तमान में राज्य में केंद्र सरकार का मिलाकर कुल 2243 प्लांट से 3490.76 मेगावाट बिजली उत्पाद की जा रही है। शेष बिजली आपूर्ति के लिए रियल टाइम मार्केट से खरीदे जा रहे हैं।

ऊर्जा निगम का दावा, चारधाम यात्रा में साढ़े 23 से 24 घंटे दी जा रही बिजली-

वर्तमान में चारधाम यात्रा सीजल चल रहा है। ऐसे में ऊर्जा निगम की टेंशन और बढ़ गई है। हालांकि परिचालन निदेशक का कहना है कि चारधाम यात्रा में शत-प्रतिशत बिजली आपूर्ति की जा रही है। प्रतिदिन साढ़े 23 से 24 घंटे बिजली दी जा रही है।

व्यापारी बोले- मौसम ने बढ़ाई चिंता, बिजली ट्रिपिंग से हाे रही दिक्कत-

बढ़ते तापमान और भीषण गर्मी के साथ बिजली समस्या को लेकर व्यापारियों ने कहा है कि गर्मी बढ़ने के साथ बिजली समस्या भी देखने को मिल रही है। ऐसे में आने वाले दिनों की चिंता हो रही है। दिन में थोड़ी-थोड़ी देर के लिए ट्रिपिंग होने से दिक्कतें हो रही हैं। गर्मी बढ़ने पर अगर यही स्थिति रही तो परेशानी बढ़ेगी। मौसम की स्थिति देख चिंता हो रही है। उनका कहना है कि अभी ऐसी स्थिति है तो आगामी दिनों में किस तरह के हाल होंगे। ऐसे में उचित व्यवस्था होनी चाहिए।