पिथौरागढ़ से नियमित उड़ान मिली अनुमति

0
159

देहरादून,  उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पन्त ने बताया कि पिथौरागढ़ स्थित नैनी-सैनी एयरपोर्ट को डायरैक्टर जनरल आँफ सिविल एवियेशन (डीजीसीए) द्वारा एयरोड्रम लाइसेंस प्रदान किया जा चुका है।

सीमान्त एवं सुदूरवर्ती जनपद पिथौरागढ़ में बीते काफी समय पूर्व हवाई पट्टी का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका था। लेकिन, पर्याप्त अवस्थापना सुविधा न होने के कारण हवाई सेवा प्रारम्भ नहीं हो पा रही थी। राज्य में भाजपा की सरकार बनने के बाद, निरंतर इस हवाई पट्टी को प्रारम्भ करने के लिए प्रयासरत रहने और अन्य महत्वपूर्ण परियोजनाओं के साथ इसे भी एक ड्रीम प्रोजैक्ट के रूप में देखने वाले उत्तराखंड के वित्त मंत्री प्रकाश पन्त ने इस हवाई पट्टी में पर्याप्त अवस्थापना सुविधाएं जुटाने व रन-वे का चौड़ीकरण कराने का कार्य सम्पन्न कराया गया और प्रधानमंत्री द्वारा प्रारम्भ की गई ‘उड़ान’ योजना में इसे सम्मिलित कराने में सफलता प्राप्त की। बीते माह नवम्बर में इस हवाई पट्टी से ट्रायल लैंडिंग की सफलतापूर्वक सम्पन्न करायी गयी और डीजीसीए के अन्तिम एप्रूवल के कारण नियमित उड़ान प्रारम्भ नहीं हो पायी थी।

बीते सप्ताह जीएसटी बैठक में प्रतिभाग करने के लिए दिल्ली प्रवास के दौरान प्रकाश पन्त द्वारा विभिन्न केन्द्रीय मंत्रियों से वार्ता के दौरान सक्षम मंचों पर इस विषय पर भी चर्चा की गई थी, जिसका परिणाम है कि डीसीसीए द्वारा नियमित उड़ानों के लिए प्रतीक्षारत इस हवाई पट्टी से हवाई जहाजों के उड़ान भरने की आखिरकार अनुमति प्रदान की जा चुकी है। प्रकाश पन्त ने बताया कि, “नैनी-सैनी हवाई पट्टी, पिथौरागढ़ से वायुयानों के संचालन में किसी प्रकार की बाधा नहीं रह गई है। शीघ्र ही हवाई सेवा प्रारम्भ हो जायेगी। सुदूरवर्ती क्षेत्र की जनता को इसका समुचित लाभ मिलेगा व हवाई सेवा के संचालन से आवागमन की सुविधा के साथ-साथ पर्यटन का भी विकास होगा, जो सीमान्त जनपद के लिए वरदान साबित होगी।”