उत्तराखंड : केदारनाथ धाम के पंडा-पुरोहितों की नाराजगी त्रिवेंद्र को पड़ी महंगी, नहीं कर सके दर्शन

0
124
राजनीति
RAWAT

पंडा-पुरोहितों की नाराजगी नेताओं को भारी पड़ने लगी है। सोमवार को पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत बाबा केदारनाथ के दर्शन करने पहुंचे, लेकिन त्रिवेंद्र सिंह को न केवल केदारनाथ धाम में तीर्थ पुरोहितों का विरोध झेलना पड़ा बल्कि उन्हें संगम पुल से वापस कर दिया गया।

इसके कारण पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह को बिना दर्शन किए ही केदारनाथ धाम से वापस लौटना पड़ा। तीर्थ पुरोहित अब तक पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र के अलावा भाजपा प्रदेश अध्यक्ष मदन कौशिक और कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत को भी बगैर दर्शन के वहां से लौटा चुके हैं। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भी पांच नवंबर को बाबा केदारनाथ धाम के दर्शन करने जा रहे हैं, उससे पहले यह घटना खासी चर्चा में है।

प्रधानमंत्री मोदी के आने से ठीक पहले तीर्थ पुरोहितों के उठे विरोध के यह स्वर समस्या को गंभीर बना रहे हैं। पूर्व मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कभी यह नहीं सोचा होगा कि देवास्थनम बोर्ड का गठन उन्हें बाबा केदारधाम के दर्शन भी नहीं करने देगा, लेकिन ऐसा त्रिवेंद्र सिंह रावत के साथ हुआ है। हालांकि इस संबंध में पूर्व सीएम त्रिवेंद्र से बात नहीं हो सकी है।