उत्तराखण्ड में बिगड़ती स्वास्थ्य सेवा पर कांग्रेस ने उठाए सवाल

0
27
देहरादून, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष ने राज्य में बिगड़ती स्वास्थ्य सेवा को लेकर सरकार के कार्यों पर सवाल उठाया है। उन्होंने कहा कि देहरादून सहित प्रदेश के सभी हिस्सों में डेंगू का प्रकोप लगातार बढ़ रहा है ​फिर भी सरकार लोगों को सुविधा मुहैया नहीं करा पा रही है। आयुष्मान योजना भी शोपीस साबित हो रही है।
प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने जारी बयान में राज्य की बदहाल स्वास्थ्य सेवाओं पर सरकार को आडे़ हाथों लिया है। उन्होंने कहा कि राज्य के अधिकांश क्षेत्रों में डेंगू का भारी प्रकोप जारी है, लेकिन राज्य सरकार द्वारा उसकी रोकथाम के लिए कोई कारगर कदम नहीं उठाये जा रहे हैं। राज्य सरकार की अटल आयुष्मान योजना का सच भी लोगों के सामने आ चुका है। इस योजना के कार्ड धारक गरीब लोगों काे उपचार नहीं मिल पा रहा है। उन्होंने कहा कि अकेले राज्य की राजधानी देहरादून में लगभग सभी अस्पतालों में सैकड़ों की संख्या में डेंगू के मरीज भर्ती हो रहे हैं। महानगर के एकमात्र चिकित्सालय राजकीय दून मेडिकल काॅलेज में डेंगू से पीड़ित मरीजों की संख्या दिन-प्रतिदिन बढ़ती जा रही है। लेकिन राज्य सरकार इसके लिए अतिरिक्त चिकित्सकों की नियुक्ति नहीं की जा रही है। राज्य के प्रमुख सरकारी चिकित्सालयों में या तो मशीन खराब पड़ी हुई हैं या दवाई की भारी कमी है।
उन्होंने कहा कि मरीजों की संख्या के हिसाब से चिकित्सालय में चिकित्सक, चिकित्सकीय स्टाॅफ एवं दवाओं की कोई व्यवस्था नहीं है। चिकित्सालय की आपातकालीन सेवा भी मात्र एक चिकित्सक के भरोसे चल रही है तथा डेंगू के मरीजों को चिकित्सालय से न तो प्लेटलेट्स ही उपलब्ध हो रहे हैं और न ही दवाई उपलब्ध हो पा रही हैं। उल्टे विभाग द्वारा ब्लड टेस्ट, सिटी स्कैन, एमआरआई, अल्ट्रासाउण्ड के दाम काफी बढ़ा दिये गये हैं जो गरीब मरीजों की पकड से बाहर होते जा रहे हैं। प्रीतम सिंह ने कहा कि बरसाती मौसम में होने वाली बीमारियों विशेषकर डेंगू जैसी जानलेवा बीमारी को मद्देनजर राज्य के सभी राजकीय चिकित्सालयों में चिकित्सकों एवं चिकित्सकीय स्टाॅफ तथा दवाओं की समुचित व्यवस्था की जानी चाहिए।