त्रिवेन्द्र सरकार के बजट को विपक्ष ने बताया झूठ का पुलिंदा

0
102
बजट
त्रिवेन्द्र सरकार के विकासोन्मुखी बजट के दावों को विपक्ष कांग्रेस, यूकेडी और आप सहित अन्य राजनीतिक दलों ने झूठ का पुलिंदा बताया है। उनका कहना है कि गैरसैंण को ग्रीष्मकालीन राजधानी बनाने से कुछ नहीं हुआ तो नई कमिश्नरी से उम्मीद कम नाउम्मीदी ज्यादा हाथ लगी है।
कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि सरकार का अंतिम बजट महंगे खाली सिलेंडरों की तरह खोखला है। इस बजट में न तो रोजगार सृजन व मूल्य नियंत्रण का जिक्र है और न ही हाशिए के वर्ग हित के संदर्भ में कोई ठोस कार्ययोजना। यह बजट भाजपा के जुमलों की तरह महज एक झूठा सब्जबाग है।
कांग्रेस प्रदेश उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने त्रिवेंद्र सरकार के अंतिम बजट को झूठ का पिटारा बताया। उन्होंने कहा कि अंतिम बजट में भी लोगों को जुमलों से बहलाने का प्रयास किया गया है। रोजगार सृजन के मामले में सफेद झूठ बोला गया।
उन्होंने कहा कि नई कमिश्नरी बनाने से क्या फर्क पड़ेगा जब पुरानी कमिश्नरी पौड़ी में ही कमिश्नर डीआईजी व मंडलीय अधिकारी नहीं बैठते। त्रिवेंद्र के बजट में दृष्टि का भी आभाव है।
राजधानी के सपने को सरकार पीछे धकेली: यूकेडी 
उत्तराखंड क्रांति दल (यूकेडी) के केन्द्रीय प्रवक्ता विजय कुमार बौड़ाई ने गैरसैंण को स्थायी राजधानी बनाने के बजाय गैरसैंण को तीसरी कमिश्नरी बनाकर राजधानी बनाने के सपने को और पीछे धकेल दिया है। यह बजट जनता के लिए मात्र एक लॉलीपॉप की तरह है। यूकेडी सरकार के इस फैसले का विरोध करेगा।
जीरो वर्क सीएम का जीरो विजन बजट:आप
आप नेता रवींद्र जुग रान ने कहा कि यह बजट महज चुनावी स्टंट और आत्म प्रशंसा से भरा है। इसमे राज्य का विकास कम सरकार अपनी पीठ थपथपाने के काम ज्यादा बताया गए हैं। इसके अलावा उन्होंने जोशीमठ आपदा में  प्रशासनिक निकम्मेपन को भी आत्म प्रशंशा से ढकने की कोशिश की। मुख्यमंत्री जीरो वर्क को बजट में जीरो विजन को दर्शाया है।