वंशीधर का ग्राम प्रधान से लेकर उत्तराखण्ड भाजपा अध्यक्ष तक का सफर

0
92
उत्तराखण्ड भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नए प्रदेश अध्यक्ष बंशीधर भगत ने अपनी जीवन का सफर राष्ट्रीय स्वसंसवेक संघ (आरएसएस) से शुरू किया। इस दौरान वे अटल बिहारी वाजपेयी से प्रेरित होकर जनंसघ से जुड़े। राजनीतिक सफर में ग्राम प्रधान से लेकर छठी बार विधायक सहित विभिन्न ​पदों पर रहते हुए उत्तर प्रदेश से लेकर उत्तराखण्ड सरकार में मंत्री के दायित्व का बखूबी निर्वहन किया। इसके साथ ही उन्होंने धार्मिक कार्यों में बढ़ चढ़ कर हिस्सा लिया। इसी क्रम में रामलीला समिति के अध्यक्ष के साथ राजा दशरथ के पात्र का भी अभिनव करते आ रहे हैं। उनकी ताजपोशी के बाद कार्यकर्ताओं में जश्न का माहौल देखने को मिला। उन्होंने जमरानी बांध को लेकर पहली बार आंदोलन कर सुर्खियां बटोरीं। इसके बाद राम जन्मभूमि आंदोलन में सक्रिय रहे। इस दौरान उन्हें गिरफ्तार भी किया जिसके 23 दिन बाद उन्हें रिहा कर किया गया।
उत्तराखण्ड नए भाजपा अध्यक्ष का  जीवन परिचय
नाम: बंशीधर भगत ।
पिता का नाम: स्व. टीका राम भगत।
माता का नाम: स्व. तारी देवी।
जन्म: 08 अगस्त 1951 (भक्यूड़ा -भीमताल)।
निवास: लोहरियाताल, हल्द्वानी।
शिक्षा: हाईस्कूल ।
सामाजिक और राजनीतिक सफर 
-1970 में राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ से जुड़े ।
-1975 में जनसंघ के सदस्य ।
.सन 1984 में ग्राम सभा पनियाली से ग्राम प्रधान बने।
-1989 में भाजपा के नैनीताल।
-ऊधमसिंहनगर के जिलाध्यक्ष बने ।
-1991 में पहली बार नैनीताल से उत्तर प्रदेश रहते हुए विधायक बने।
-1993 में उप्र में राज्यमंत्री वन ।
-1996 में खाद्य, रसद एवं पर्वतीय विकास मंत्री।
-2000 में उत्तराखंड की अंतरिम सरकार में कैबिनेट मंत्री।
-2007 में कैबिनेट मंत्री।
.201314.15 में विधानसभा में लोकलेखा समिति के अध्यक्ष भी रहे।
-2012 और 2017 में विधायक ।
वर्ममान में विधानसभा के प्रतिनिहित विधायक समिति के अध्यक्ष पद पर कार्य रहे हैं।
उत्तराखण्ड में अब तक रहे प्रदेश अध्यक्ष
पूरन चंद शर्मा – 2000 से 2002।
मनोहर कांत ध्यानी – 2002 से 2003।
भगत सिंह कोश्यारी – 2003 से 2007।
बच्ची सिंह रावत – 2007 से 2009।
बिशन सिंह चुफाल – 2009 से 2013।
तीरथ सिंह रावत – 2013 से 2015 ।
अजय भट्ट – 2015 से 2020।