पुलिस को समाज में उपयोगिता साबित करनी होगीः डीजीपी

0
64
अशोक कुमार
चमोली में पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने जन संवाद कार्यक्रम में कहा कि पुलिस को समाज के प्रति अपनी उपयोगिता साबित करनी है। गरीब, असहाय और पीड़ित की मदद करना पुलिस का पहला उद्देश्य होना चाहिए। इसके लिए हमें यह वर्दी मिली है। आम आदमी को थाने में आने से डर नहीं लगना चाहिए बल्कि उसे गर्व महसूस होने से साथ ही न्याय मिलने की आस उसके अंदर पैदा हो।
पुलिस मैदान में आयोजित कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि अमीर आदमी को तो न्याय आसानी से मिल जाता है। उसे न्याय पाने के लिए मशक्कत करने की जरूरत नहीं होती, लेकिन गरीब, असहाय व पीड़ित को न्याय मिले इसकी जरूरत ज्यादा है। उन्होंने कहा कि पुलिस समाज हित के लिए बनी है। हमारी वर्दी देखकर लोगों को डरना नहीं चाहिए, बल्कि जहां पर हम खड़े हो जाएं वहां पर लोगों को लगना चाहिए कि अब न्याय होगा।
उन्होंने कहा कि हमें पुलिस की छवि को बेहतर बनाना होगा और यदि पुलिस की छवि पर किसी प्रकार का भी दाग लगता है तो वह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। पुलिस के कल्याण के लिए कई योजनाएं बनाई गई हैं।कार्यक्रम में जिलाधिकारी चमोली स्वाति एस भदौरिया, पुलिस अधीक्षक चमोली यशवंत सिंह चौहान आदि भी मौजूद रहे।
युवा नशे से दूर रहें 
पुलिस महानिदेशक ने जन संवाद कार्यक्रम में लोगों के सुझाव और समस्याएं भी सुनीं।  उन्होंने युवाओं में बढ़ती नशे की प्रवृत्ति पर चिंता जताई। अशोक कुमार ने कहा कि युवाओं को नशे की लत से दूर रहना चाहिए। इस मामले में अभिभावकों को भी सजग रहने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि चमोली जिले के देवाल, घाट, नारायणबगड आदि स्थानों की पुलिस चौकियों को अपग्रेड किया जाएगा।  चारधाम यात्रा को ट्रैफिक समस्या से छुटकारा दिलाने की कोशिश की जाएगी।उन्होंने युवाओं को भरोसा दिलाया कि मार्च में पुलिस भर्ती प्रक्रिया शुरू होगी। सिपाहियों की कमी को पूरा किया जाएगा। जाम न लगे इसके लिए लोगों को अपने होटल, घरों के पास पार्किंग की व्यवस्था भी करनी होगी। नगर पालिका और पंचायतों को भी पार्किंग की व्यवस्था पर जोर देना होगा। इस मौके पर पालिकाध्यक्ष सुरेंद्र लाल, बचन लाल, भाजपा जिलाध्यक्ष रघुवीर बिष्ट, महिला मोर्चा अध्यक्ष चंद्रकला तिवारी, नरेंद्र भारती, मोहन सिंह नेगी, प्रेम बल्लभ भट्ट, चाइल्ड हेल्प लाइन की समन्वयक प्रभा रावत आदि ने सुझाव रखे।