पुरोला प्रकरण : हिन्दू जागृति मंच के संयोजक सहित कई लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

0
227
पुरोला

लव जिहाद प्रकरण को लेकर विभिन्न हिन्दू संगठनों के पुरोला में महापंचायत के ऐलान के मद्देनजर जहां पुरोला नगर गुरुवार को पुलिस छावनी में तब्दील कर दिया गया वहीं पुलिस ने कई हिन्दू संगठनों के लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। प्रशासन के पुरोला में महापंचायत को रोकने के लिए लगाई गई धारा 144 से यमुनाघाटी व्यापार मंडल भी नाराज है और इसके विरोध में बड़कोट, नौगांव, पुरोला, मोरी ,डामटा के प्रमुख बाजार पूर्णतः स्वतःस्फूर्त बंद है।

हालांकि पुलिस प्रशासन की सख्ती और महापंचायत पर प्रतिबंध के बाद कुछ संगठनों ने अपने फैसले को वापस ले लिया था, लेकिन कुछ अन्य संगठनों में पुलिस-प्रशासन के इस रवैए को लेकर आक्रोश है। इसलिए न केवल यमुना घाटी का बाजार पूरी तरह बंद है अपितु कुछ संगठनों के लोग महापंचायत करने को अडिग भी दिखे। इसको देखते हुए जिला प्रशासन और पुलिस सतर्क तो है ही साथ ही पूरे नगर क्षेत्र में पुलिस के सैकड़ों जवानों को चप्पे चप्पे पर तैनात किया गया है। इस महापंचायत के मद़्देनजर जिला प्रशासन ने पहले से ही 14 से 19 जून तक इलाके में धारा 144 लागू कर अपनी पैनी नजर रखे हुए है। पुलिस ने आज महापंचायत में शामिल होने जा रहे कई संगठनों के लोगों को विभिन्न जगहों से गिरफ्तार भी किया है।

व्यापार मंडल ने हिन्दू संगठनों की महापंचायत पर रोक लगाने का किया विरोध-

स्थानीय व्यापार मंडल ने हिन्दू संगठनों की महापंचायत पर रोक लगाने का विरोध किया है। स्वामी केशव गिरी महाराज के नेतृत्व में गुरुवार को पुरोला जा रहे व्यापार मंडल अध्यक्ष बड़कोट राजाराम जगूड़ी, तरवीन राणा और हिन्दूवादी संगठनों के समर्थकों को पुलिस ने नौगांव के आगे ही रोक दिया है। इससे गुस्साए संगठनों के समर्थक और कार्यकर्ता सड़क पर नारे लगाते हुए धरने पर बैठ गए।

स्पीच हिन्दूवादी संगठन ने नारा लगाया कि पहाड़ों में लव जिहाद नहीं चलने देंगे। इस दौरान जय श्री राम के नारे भी लगे। फिलहाल नौगांव सड़क पर ही लोग लाउडस्पीकर के माध्यम से भाषणबाजी भी कर रहे हैं, लेकिन पुलिस और प्रशासन भी अपना काम कर रहा है। दूसरी ओर बजरंग दल के संगठन मंत्री विकास वर्मा पुरोला खेल मैदान पहुंचे हैं। उन्होंने कहा कि पहाड़ में गलत काम करने वाले लोगों को बर्दाश्त नहीं करेंगे।

प्रदर्शनकारी महापंचायत के लिए पुरोला जाने की जिद पर अड़े, पुलिस से हुई नोकझोंक-

पुरोला ब्लॉक में 14 से 19 जून तक धारा-144 लगाई गई है। पूरे पुरोला नगर को छावनी में तब्दील कर दिया गया है। इसके बावजूद हिन्दूवादी संगठनों के समर्थक और प्रदर्शनकारी महापंचायत के लिए पुरोला जाने की जिद पर अड़ गए। इस बीच उनकी पुलिस के साथ धक्का-मुक्की। यमुना घाटी के नौगांव, बड़कोट और पुरोला के सभी बाजारों में व्यापारियों ने अपनी सभी दुकानें और प्रतिष्ठान बंद रखे हुए हैं। यमुना घाटी के इन तीनों बाजारों में कोई भी दुकान नहीं खुली है। महापंचायत के लिए हिन्दू संगठनों के कार्यकर्ताओं और व्यापारी पुरोला जाने की जिद पर अड़े हुए हैं, जिन्हें पुलिस ने जाने से रोका हुआ है। पुलिस के साथ नोकझोंक के बाद प्रदर्शनकारी धरने पर बैठ गए, जिसके चलते लंबा जाम लग गया।

हिन्दू जागृति मंच के संयोजक सहित कई लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार-

यमुना घाटी हिन्दू जागृति मंच के संयोजक केशव गिरी महाराज को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है। इस पर उनके समर्थक धरने पर बैठ गए और सभी लोगों ने गिरफ्तारी दी। इसके बाद गिरफ्तार किए व्यापारी और हिन्दू संगठन के लोगों को पुलिस वाहन में धरनास्थल से आधा किमी दूर जा कर छोड़ दिया। केशव गिरी महाराज ने अब 25 जून को बड़कोट में महापंचायत करने की घोषणा की है। धरने की वजह से करीब ढाई घंटे तक पुरोला- नौगांव मार्ग बंद रहा है।

एडीएम ने लोगों से की शांति की अपील-

एडीएम तीर्थपाल सिंह ने जनता से अपील करते हुए कहा कि पुरोला घटना को लेकर मीडिया और सोशल मीडिया में कोई भी भ्रामक सूचना न प्रसारित की जाये। उन्होंने कहा कि भ्रामक सूचना से कानून व्यवस्था बिगाड़ने वालों को कतई भी बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने पुरोला में शांति व्यवस्था बनाने में जनसहयोग से अपील की है।