कांवड़िये की हत्या का मामले में छह गिरफ्तार, पुरकाजी थाने में मिले आरोपित

0
94
कांवड़िये

कांवड़ मेले के आखिर दिन रुड़की में डाक कांवड़ लेकर जा रहे यूपी और हरियाणा के कांवड़ियों के बीच हुए विवाद में एक कांवड़िये की मौत के आरोप में पुलिस ने छह लोगों को गिरफ्तार किया है। मृत कांवड़िये कार्तिक के ताऊ राजेंद्र ने इस मामले में कोतवाली रुड़की में तहरीर दी थी।

राजेंद्र ने पुलिस को बताया था कि रुड़की में झिलमिल गुफा के पास कैंटर और एक अन्य वाहन पर सवार 15 से 20 अज्ञात व्यक्तियों ने एक राय होकर हरिद्वार से गंगा जल लेने आए कांवड़िये कार्तिक के साथ मारपीट की थी, जिसके वह गंभीर रूप से घायल हो गया था। कार्तिक को गंभीर हालात में रुड़की के सिविल अस्पताल भर्ती कराया गया था, जहां उपचार के दौरान उनसे दम तोड़ दिया था।

तहरीर के आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया और मामले की विवेचना वरिष्ठ उपनिरीक्षक केदार सिंह चौहान को दी। घटना की गंभीरता को देखते हुए पुलिस अधीक्षक ग्रामीण व क्षेत्राधिकारी रुड़की के निर्देशन में अलग-अलग पुलिस टीमों का गठन किया गया। पुलिस टीम को हरेंद्र व ओमेंद्र निवासी मुजफ्फरनगर ने सूचना दी कि जिन व्यक्तियों ने उनके साथ मारपीट की थी, उनमें से कुछ लोगों को मुजफ्फरनगर जिले की पुरकाजी थाना पुलिस ने पकड़ा है। सूचना मिलते ही उपनिरीक्षक महेंद्र सिंह पुंडीर पुलिस फोर्स के साथ पुरकाजी थाने पहुंचे और पूरे मामले की जानकारी ली।

पुरकाजी पुलिस ने बताया कि हरियाणा के पानीपत जिले के रहने वाले कुछ लोग पुरकाजी में झगड़ा कर रहे थे, जिन्हें स्थानीय लोग पीट रहे थे। उनमें से कुछ लोग अपने वाहन छोड़कर भाग गए थे। कुछ अपनी जान बचाने के लिए पुरकाजी थाने में आ गए थे।

हरेंद्र और ओमेंद्र से जब उनकी पहचान कराई गई तो उन्होंने बताया कि ये उसी ग्रुप के कांवड़िये हैं, जिन्होंने रुड़की में उनकी और कार्तिक के साथ मारपीट की थी। इसके बाद उपनिरीक्षक महेंद्र सिंह पुंडीर ने पकड़े गए आरोपितों से पूछताछ की। पूछताछ में आरोपितों ने अपना नाम सुंदर (38) पुत्र रामभज , राहुल (20) पुत्र पहल सिंह, सचिन (25) पुत्र महिपाल, आकाश (21) पुत्र विजेंद्र, पंकज (22) पुत्र मेनपाल और रिंकू (24) पुत्र रमेश निवासीगण चुलकाना थाना सभालखा, जिला पानीपत, हरियाणा बताया है।

पुलिस पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि हरिद्वार से गंगाजल लाते समय रुड़की के आसपास मुजफ्फरनगर के कांवड़ियों के साथ जल जल्दी ले जाने की होड़ में कहासुनी हो गई थी, जिस कारण दोनों पक्षों में लड़ाई हो गई थी और वे लोग वहां से भाग गए थे। इसके बाद जैसे ही वे मुजफ्फरनगर जिले के पुरकाजी थाना क्षेत्र में पहुंचे तो स्थानीय लोगों ने उनके ट्रक और मोटर साइकिल को रोका और उनके साथ मारपीट शुरू कर दी। स्थानीय लोगों ने पुरकाजी पुलिस से उन्हें जैसे-तैसे बचाया। पुलिस सभी आरोपितों को रुड़की लेकर आई और उनकी गिरफ्तार की। इसके साथ ही आरोपितों के वाहनों को भी पुलिस ने कब्जे में ले लिया है।

सिविल लाइन कोतवाली प्रभारी देवेंद्र चौहान ने बताया कि इस मामले में करीब 20 से 25 अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है, शेष आरोपियों की पहचान कर गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमों को रवाना किया गया है।