देश मे शांति के लिए एक दिन का रोजा

0
117

नागरिक संशोधन बिल राज्य सभा से पास होने के बाद कानून का रूप ले चुका है तो दूसरी ओर इस बिल का भारी विरोध सड़को पर हो रहा है,विरोध इस कदर हो रहा है कि जगह-जगह हिंसा भी सड़को पर हो रही है इसी सब के बीच उत्तराखंड की जामा मस्जिद के इमाम ने शांति और सद्भाव के लिए एक दिन का रोजा रखने की अपील की है। शहर काजी ने एक लिखित पत्र के जरिये एक दिन का रोजा रखने की अपील की है जिससे देश मे बिगड़ रहे माहौल की शांति और भाईचारे बने रहने की अपील की गई है।

नागरिकता संशोधन कानून और एन आर सी का देशभर में जमकर विरोध हो रहा है जिसके चलते पिछले दो सप्ताह से अलग अलग शहरों में 18 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है और करोड़ों रुपए की संपत्ति का नुकसान हो चुका है। देश में बिगड़ते हालत के बीच देहरादून शहर से एक शान्ति और अमन खबर सामने आयी है। देहरादून के शहर काजी ने एक चिट्ठी जारी कर जुमा यानी शुक्रवार के दिन लोगो से रोजा रखने की अपील की है। काजी मुहम्मद अहमद कासमी ने लोगो से अपील करते हुवे कहा है कि देश में जिस तरह के हालात है वह और ज्यादा न बिगड़े इसलिए सबको जुमा के दिन रोजा रखना है और अल्लाह से दुआ करनी है कि देश में अमन और चैन बना रहे।

मुहम्मद अहमद कासमी , शहर काजी देहरादून  ने कहा, नागरिकता कानून जब से सांसद से पारित हुआ है तभी से हर जुमा यानी शुक्रवार को नमाज के बाद अलग-अलग शहरों में इसको लेकर विरोध प्रर्दशन हो रहा है ऐसे में विरोध और प्रदर्शन के दौरान को हिंसा हो रही है वो कहीं न कहीं मानवता को शर्मशार कर रही है। 27 तारीख को फिर से जुमा है ऐसे लोग शांति और अमन बनाए रखे और किसी तरह की हिंसा न हो इसके लिए शहर काजी ने यह अपील की है। और उम्मीद कि है कि सरकार इस कानून को लेकर लोगो की भावनाओ को समझेगी

विरोध प्रदर्शन और हिंसा के बीच रोजा रखकर अमन कि दुआ करने की शहर काजी की ये अपील कितनी कारगर साबित होगी ये तो आने वाला वक्त बताएगा, लेकिन इससे एक बात तो साफ हो गई है कि देश के हालत न बिगड़े ये हर एक मजहब के लोग चाहते है। वही रोजा रखने वाले लोगो का भी कहना है कि जो भी कानून सरकार बनाये वो सभी वर्गों को ध्यान रखकर बनाये।भारत सभी धर्मो के लोगो का देश है और सभी को अपना विरोध प्रकट करने का अधिकार है और इस बिल के विरोध में जो भी हिंसा हो रही है वो गलत है इसके लिए उनके द्वारा जो रोजा रखा गया है वो देश मे अमन और शांति के लिए रखा गया है।