कोरोना : सही तरीके से मास्क न पहनने पर होगी कानूनी कार्रवाई

0
71
कोरोना

जहां एक तरफ कोरोना लॉकडाउन 4.0 की तैयारियों में सरकार लग गी है, वहीं इस बात पर भी जोर दिया जा रहै है कि कोरोना के साथ जीने के नये कायदों का आम लोग कड़ाई से पालन करें। इनमे से सबसे पहला और खाल नियम है सार्वजनिक स्थानों पर चेहरे पर मास्क पहनना।

अब यह साफ है कि कोरोना के इस दौर में अगर आप मास्क गलत तरीके से पहनते हैं तो न केवल आप अपनी और अन्य लोगों की सेहत से खिलवाड़ कर रहे हैं बल्कि कानून भी तोड़ रहे हैं। राज्य में सार्वजनिक स्थलों पर मास्क सही से या नहीं पहनने पर अब आप मुसीबत में पड़ सकते हैं।

दिखावे के लिए मास्क पहनने वालों के खिलाफ पुलिस कानूनी कार्रवाई करेगी। डीजी (कानून-व्यवस्था) अशोक कुमार ने सार्वजनिक स्थलों पर गलत ढंग से मास्क पहनने वालों पर कार्रवाई के निर्देश दिए हैं।

चार मई से लॉकडाउन में छूट के बाद लोगों में कोरोना से बचाव की तरफ लोगों में जागरूकता की कमी दिखाई दे रही है। लोग घरों से ज्यादा बाहर निकलने लगे हैं। यहां तक कि लोग मास्क के बिना निकल रहे हैं या फिर सिर्फ दिखावे के लिए लगा रहे हैं।

इनमें से तमाम लोगों को अब तक यह जानकारी भी नहीं है कि कोरोना का मुख्य संक्रमण नाक से ही फैल रहा है, वे मास्क से सिर्फ मुंह को ही ढक रहे हैं। जबकि कई युवा फैशन की तरह मास्क लगाकर घूम रहे हैं। इससे उनको या उनसे दूसरों को संक्रमण की आशंका बढ़ गई है।

अशोक कुमार का कहना है कि, “सार्वजनिक स्थान पर मास्क गलत तरीके से पहनना, ना पहनने जैसा ही है। अगर मास्क से मुंह के साथ नाक नहीं ढकी है तो उसे पहनने का फायदा नहीं। ऐसे लोग खुद की और दूसरों की जान खतरे में डाल रहे हैं। ऐसे लोगों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।”
कानून और प्रशासन तो अपना एक्शन लेगा। लेकिन, इतना तय है कि कोरोना के साथ अगर हमें जीना सीखना है तो इसमे सबसे अहम भूमिका खुद आम जनता की है। लोगों को खुद समझने की जरूरत है कि कोरोना से बचाव के तरीकों का पालन न कर वो न केवल अपने और अपने परिवार की सेहत से खिलवाड़ कर रहे हैं, बल्कि अन्य लोगो की जिंदगी भी खतरे में डाल रहे हैं।