पेपर लीक मामले में कोई कोताही नहीं होने दी जाएगी: मुख्यमंत्री धामी

0
29

लोक सेवा आयोग की लेखपाल भर्ती परीक्षा पेपर लीक मामले पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि इस मामले पर प्रशासन पूरी तरह सतर्क है और एसटीएफ ने पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। मामले की पूरी छानबीन की जा रही है।

मुख्यमंत्री ने स्पष्ट किया कि प्रदेश के युवाओं से धोखा करने वालों को किसी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि ऐसी गंदगी करने वाले और युवाओं का भविष्य खराब करने वाले किसी भी व्यक्ति को नहीं छोड़ा जाएगा। जिस तरह से उत्तराखंड अधीनस्थ चयन सेवा आयोग भर्ती मामले पर कार्रवाई हुई है, उसी तरह से अन्य संस्था द्वारा यदि ऐसा किया गया उन पर भी कार्रवाई होगी। नकल रोकने के लिए सख्त नकल कानून बनाने के लिए भी सरकार काम कर रही है। हमारा प्रयास है कि नकल विहीन शुद्ध परीक्षाएं हो, जिससे योग्य लोगों को उनका समुचित लाभ मिले।

मुख्यमंत्री ने जोशीमठ भू-धंसाव पर जानकारी देते हुए बताया कि जोशीमठ में लगभग 60 प्रतिशत क्षेत्र पूरी तरह ठीक है। मात्र 40 प्रतिशत क्षेत्रों में दरार तथा अन्य अव्यवस्थाएं हैं जिनको दुरुस्त करने का कार्य चल रहा है। उन्होंने कहा कि अति संवेदनशील क्षेत्रों में शासन, प्रशासन पूरी सावधानी बरत रहा है। जो भवन रहने लायक नहीं है उनको भी अभी छेड़ा नहीं जा रहा है केवल दो होटलों को हटाने की कार्रवाई की गई है तथा नागरिकों से आग्रह किया गया है कि वह अधिक क्षतिग्रस्त भवनों में न रहें, ताकि जानमाल की क्षति न हो।

मुख्यमंत्री ने कहा कि लोगों को मुआवजा देने की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी है। उन्होंने कहा कि जो ज्यादा प्रभावित लोग हैं उनको अन्यत्र भेज दिया गया है। 90 से ज्यादा परिवारों को शिफ्ट किया गया है। ज्यादा क्षतिग्रस्त भवनों को खाली कराया जा रहा है। पुनर्वास का कार्य किया जा रहा है। यह प्राकृतिक आपदा है। इसके लिए फैसले लिए जा रहे हैं। लोगों को लाभान्वित किया जाएगा।