नैनीताल में अर्ध नग्नावस्था में मृत मिली महिला के मामले में सनसनीखेज खुलासे

0
127
शव

मल्लीताल कोतवाली के पास सोमवार को नोएडा निवासी 30 वर्षीय दीक्षा मिश्रा की अर्ध नग्नावस्था में मिले शव के मामले में कई सनसनीखेज खुलासे हुए हैं। पुलिस के अनुसार मृतका को साथ लाया और उसकी हत्या कर फरार हुआ युवक अपना नाम ऋषभ तिवारी बताता था, लेकिन उसका वास्तविक नाम इमरान था, और वह कबाड़ी का काम करता था। महिला रियल स्टेट में अच्छी नौकरी करती थी और अपने पिता की निधन के बाद वही पूरे घर को संभालती थी। । अपने पति से कई वर्षों से अलग रहने के बावजूद उसने दो माह पूर्व अपना फ्लैट और हाल में नई कार ली थी और अपनी 10-11 वर्षीय बेटी को खुद पालती थी। यह भी खुलासा हुआ कि मृतका को इमरान उर्फ ऋषभ की हकीकत पता थी। वह 6 वर्ष से उसके साथ लिव इन में रह रही थी और उसने अपने सीने पर इमरान का नाम गुदा रखा था।

यह भी खुलासा हुआ है कि हत्यारे इमरान का भी अपनी पत्नी से तलाक हो चुका है। साथ ही उसके अपने माता-पिता से संबंध ठीक नहीं है। वह करीब एक वर्ष से अपने माता-पिता के संपर्क में नहीं है। उसने अपने परिवार के साथ भी धोखाधड़ी की है और बदमाश प्रवृत्ति का है। उसने धोखाधड़ी के लिए अपनी फेसबुक आईडी भी ऋषभ तिवारी के नाम से बनाई थी। यह खुलासा भी हुआ है कि उनके साथ जो एक अन्य युगल भी यहां आया था, उसमें लड़की श्वेता हिंदू व लड़का अलमास उल हक यानी मुस्लिम था और करीब 30 वर्षीय युवती से करीब 10 साल छोटा भी था। श्वेता का भी अपने पति से तलाक हो चुका है और उसके भी पूर्व पति से 11 व 12 वर्षीय दो बच्चे हैं। यानी दोनों युवक अच्छे पैसों वाली तलाकशुदा महिलाओं से संबंध बनाए हुए थे।

यह भी पता चला है कि घटना से पहले मृतका के जन्म दिन की पार्टी में इमरान उर्फ ऋषभ के अलावा मृतका सहित तीनों ने शराब पी थी। इसके बाद दूसरे युगल के अपने कमरे में जाने के बाद इमरान ने दीक्षा की हत्या रात्रि साढ़े 12 से ढाई बजे के बीच किसी समय की और होटल के सीसीटीवी में वह रात्रि दो बजकर 55 मिनट पर होटल से भागा। वह साथ में मृतका का मोबाइल व अन्य कागजात भी साथ ले गया। दिल्ली पहुंचकर दीक्षा के फ्लैट में गया और उसकी बेटी से दीक्षा के मोबाइल का पासवर्ड लेकर व अन्य सामान व कागजात लेकर कहीं और फरार हो गया। यह भी पता चला है कि मृतका दीक्षा का विवाह 2008 में खुर्जा यूपी निवासी पवन शर्मा के साथ हुआ था। अक्सर पति द्वारा शराब पीकर मारपीट करने के कारण दो साल बाद ही दीक्षा बेटी के पैदा होने के बाद पति से अलग रहने लगी थी। फिलहाल दोनों का तलाक का मामला कोर्ट में लंबित है।

इधर एसपी अपराध देवेंद्र पींचा ने बताया कि मामले में आरोपित इमरान उर्फ ऋषभ तिवारी के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। साथ ही उसकी तलाश में एसओजी और कोतवाली के एसआई नितिन बहुगुणा की अगुवाई में पुलिस की टीमें भेजी गई हैं। हत्यारा दिल्ली से भी फरार हो गया है। उन्होंने विश्वास जताया कि शीघ्र ही हत्यारा सलाखों के पीछे होगा।

उधर, शव के पोस्टमार्टम में काफी विलंब हुआ। गत रात्रि ही नगर में आ चुके मृतका के परिजन, उसकी मां बीना मिश्रा, भाई अंकुर मिश्रा, दोस्त सीमा शर्मा व कशिश चौधरी सुबह साढ़े 10 बजे मोर्चरी में बेटी का पोस्टमार्टम होने के भरोसे में पहुंच गए थे, ताकि पोस्टमार्टम के उपरांत उसके शव को जल्दी अपने घर ले जा सकें, लेकिन करीब साढ़े 11 बजे शव पहुंचा जबकि पोस्टमार्टम करीब सवा 12 बजे शुरू हो पाया।