महिला स्वास्थ्य अधिकारी से छेड़छाड़, पुलिस कर्मी गिरफ्तार

0
88
रेप
FILE

काशीपुर से नैनीताल आ रही एक महिला स्वास्थ्य अधिकारी के लिए मंगलवार की रात्रि एक पुलिस कर्मी से अपनी इज्जत बचाने में जान पर बन आई। रात्रि में और बीच जंगल में अकेली महिला अधिकारी ने जांबाजी दिखाते हुए न केवल अपनी जान की परवाह किए बिना चलती बाइक से कूदकर अपनी इज्जत बचाई, बल्कि पुलिस कर्मी को सींखचों के पीछे पहुंचा दिया।

हुआ यह कि विवाहिता महिला स्वास्थ्य अधिकारी को मंगलवार देर शाम अपने निजी कार्य से काशीपुर से नैनीताल आना था। कालाढुंगी पहुंचने पर अंधेरा घिर आया। उसे नैनीताल के लिए कोई वाहन नहीं मिला। इस बीच एक पुलिस कर्मी की सलाह पर वह बाइक से नैनीताल आ रहे एक अन्य पुलिस कर्मी को ‘मित्र पुलिस’ के नाम के साथ सुरक्षित मानकर नैनीताल आने के लिए लिफ्ट लेकर नैनीताल आने लगी। करीब 10 किलोमीटर चलने पर ही मंगोली और बजून के बीच ‘मित्र पुलिस’ के उस कर्मी के भीतर बैठा हैवान जाग गया। वह महिला के यह बताने पर भी कि वह शादीशुदा है, उससे अश्लील बातें और आपत्तिजनक हरकतें करने लगा और विरोध करने पर पुलिस में होने का हवाला देते हुए जान से मारने की धमकी दी।

इस पर महिला बीच जंगल में ही घने अंधेरे के बीच चलती बाइक से कूद गई और भागती हुई किसी तरह एक दुकान पर पहुंची। उसके मोबाइल में सिग्नल भी नहीं आ रहे थे, इस पर उसने दुकानदार के मोबाइल से रोते हुए अपने परिवार को आपबीती बताई।

इसके बाद उसके परिजन उसे नैनीताल लाए और मामला नैनीताल की कोतवाली पुलिस तक पहुंच गया। यहां स्थानीय लोगों ने भी पुलिस कर्मी बताए जा रहे आरोपित की गिरफ्तारी की मांग की। इस पर कोतवाली के एसएसआई कश्मीर सिंह ने आरोपित पुलिस-आईआरबी में फॉलोवर के पद पर कार्यरत संजय देव राजपूत के खिलाफ महिला की तहरीर पर भारतीय दंड संहिता की धारा 354क और 506 के तहत मुकदमा पंजीकृत कर उसे गिरफ्तार कर लिया।