रक्षा संस्थानों के निजीकरण पर अफवाह फैलाई जा रही : अजय भट्ट

0
86
Ajay bhatt

केन्द्रीय रक्षा राज्य और पर्यटन मंत्री अजय भट्ट ने कहा कि रक्षा संस्थानों का निजीकरण नहीं होगा, इसे लेकर सिर्फ अफवाह फैलाई जा रही है। साथ ही उन्होंने कहा कि देवस्थानम बोर्ड पर सरकार को जनभावना के अनुरूप निर्णय लेना चाहिए।

मंगलवार को गढ़ी कैंट निम्बुवाला स्थित आईएचएम संस्थान में केन्द्रीय रक्षा राज्य मंत्री अजय भट्ट ने पत्रकार सम्मेलन में यह बातें कहीं। उन्होंने कहा कि उन्होंने पूरे बॉर्डर एरिया का दौरा किया है और जिस तरह से हमारे जवान सीमा पर डटे है उनको देखकर सीना गर्व से फूल जाता है। हाल ही में उन्होंने पीडब्ल्यूडी और बीआरओ की बैठक ली थी। बैठक में निर्देश दिए हैं कि राज्य सरकार को जहां भी जरूरत होगी, बीआरओ उनकी मदद करने आएगा। जल्द ही कैलाश मानसरोवर पहुंचने की तैयारी है।

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को ग्लोबल अप्रूवल रेटिंग में प्रथम आना देश के लिए गर्व की बात है। अब विपक्ष को सरकार के कार्य को लेकर नजरिया बदलना होगा। जहां पूरे विश्व में प्रधानमंत्री कमोदी का गुणगान हो रहा है, वहीं विपक्ष उन पर अनर्गल आरोप लगाते रहता है। वहीं मंत्री ने सरकार रक्षा संस्थानों का निजीकरण किए जाने पर कहा कि यह बातें गलत हैं।

केंद्र सरकार ने हाल ही में संसद में द एसेंशियल डिफेंस सर्विसेज बिल 2021 पेश किया है। इस बिल को लेकर डीआरडीओ, ओएफडी, ओएलएफ सहित सभी रक्षा संस्थानों के कर्मचारियों में डर का माहौल है। इस बिल के आने के बाद हम सभी 41 रक्षा संस्थानों के लिए सात डीपीएसयू (डिफेंस पब्लिक सेक्टर अंडरटेकिंग) की स्थापना करेंगे। जिसके बाद रक्षा संस्थानों के संचालन आसान हो जाएगा।

उन्होंने कहा कि यह मोदी सरकार का ही कमाल है कि आज हम 11 हजार करोड़ से ऊपर के रक्षा उपकरणों का निर्यात करने वाले देश बन गए हैं। आज जम्मू कश्मीर के लोग भारत माता की जय के नारे लगा रहे हैं। कल तक जो लोग हमसे कटे हुए थे। जो तिरंगे से नफरत करते थे, आज वह तिरंगा लहरा रहे हैं।

अजय भट्ट ने कहा कि भारत, दुनिया का अकेला ऐसा देश है, जिसने 19300 फीट की ऊंचाई पर सड़क पहुंचा दी सहै। पूर्व लद्दाख में उमलिंगला चोटी पर यह सड़क बनाई गई है।