केदारनाथ यात्रा के मुख्य पड़ाव में भटके बच्चे को सौंपा

0
27
lost child
पांच साल के सुनील गलती से ऊखीमठ से पहुंचा गुप्तकाशी
केदारनाथ यात्रा के मुख्य पड़ाव गुप्तकाशी में एक पांच वर्षीय भटके बच्चे को ड्यूटी पर तैनात जवान ने रिश्तेदार को सौंपा। पुलिस की इस सक्रियता पर क्षेत्रीय जनता ने मित्र पुलिस की प्रशंसा की है।
सोमवार को पांच वर्षीय सुनील नाम का बच्चा गुप्तकाशी बाजार में घूम रहा था। वह इधर से उधर भटकने में लगा था। ऐसे में पुलिस जवान रविन्द्र गिरी की नजर बच्चे पर पड़ी तो वह उसे लेकर थाने में आया। बच्चे से पूछताछ पर पता चला कि वह किसी अन्य बच्चे के साथ गलती से ऊखीमठ से गाड़ी में बैठक गुप्तकाशी आ गया था। पुलिस ने छानबीन की तो पता चला कि बच्चे के पिता नहीं हैं और माता भी मानसिक रूप से अस्वस्थ चल रही है। बच्चे के रिश्तेदार से संपर्क साधने पर ग्राम सारी निवासी ईमान सिंह थाना बुलाया गया और बच्चे ने उन्हें आसानी से पहचान लिया। पुलिस की ओर से बच्चे को उनके सुपुर्द किया गया। पुलिस जवान रविन्द्र गिरी ने बच्चे को एक जोड़ी पैंट शर्ट, एक जोड़ी जूते देकर उसके रिश्तेदार के सुपुर्द किया। बच्चे के रिश्तेदार ईमान सिंह ने पुलिस की ओर से की गई मदद पर प्रसन्नता जताई और धन्यवाद ज्ञापित किया।
पुलिस अधीक्षक अजय सिंह ने बताया कि इन दिनों बच्चा चोर जैसी घटनाएं सामने आ रही हैं। ऐसे में पुलिस प्रशासन भी सक्रियता से जुटी हुई है। उन्होंने कहा कि बच्चा चोर गिरोह का अभी एक भी मामला पुलिस के संज्ञान में नहीं आया है। वर्तमान में चल रही बच्चा चोरी की अफवाह के दृष्टिगत यदि किसी कारणवश यह बच्चा अपने परिजनों को न मिल पाता तो अवश्य ही बच्चा चोरी गिरोह के संबंध में चल रही अफवाह को और बल मिलता। उन्होंने पुलिस करते हुए कहा कि किसी भी प्रकार के अफवाहों से बचें और सभ्य समाज निर्माण में अपना योगदान अवश्य दें।