केदारनाथ धाम में यात्रियों का उमड़ रहा हुजूम, श्रद्धालु इंतजामों में जुटा प्रशासन

    0
    72

    केदारनाथ धाम में यात्रियों का हुजूम उमड़ रहा है। मात्र सात दिनों में 1 लाख 80 हजार से अधिक तीर्थयात्री ने बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं। पैदल मार्ग से लेकर हाई-वे और धाम में सिर्फ केदारनाथ जाने को लेकर यात्री ही दिखाई दे रहे हैं। यात्रियों की अत्यधिक भीड़ बढ़ने के कारण पुलिस प्रशासन को भी व्यवस्था को संभालने में दिक्कतें हो रही हैं। ऐसे में तीर्थयात्रियों और पुलिस जवानों के बीच धक्का-मुक्की के वीडियों भी सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। इसके बावजूद प्रशासन की ओर से सबकुछ मैनेज किया जा रहा है।

    सोनप्रयाग और सीतापुर पार्किंग फुल होने पर यात्रियों को कुछ समय के लिये नीचे ही रोका जा रहा है, जिससे व्यवस्थाएं बनी रहें, यात्रियों को दिक्कतें न हो।

    दस मई को भगवान केदारनाथ के कपाट खुले थे। कपाट खुलने के बाद से अब तक 1 लाख 80 हजार से अधिक भक्त बाबा केदार के दर्शन कर चुके हैं। धाम में दर्शनों के लिये भक्तों की लंबी-लंबी कतारें लगी हुई हैं। धाम में भक्तों के आने का सिलसिला लगातार जारी है। प्रत्येक दिन 25 हजार पार भक्त केदारनाथ धाम पहुंच रहे हैं। यात्रा पड़ावों पर भी भक्तों की भीड़ उमड़ रही है। सुबह सोनप्रयाग से केदारनाथ धाम के लिए यात्रियों को पंक्तिवद्ध तरीके से भेजा रहा है, जिससे शटल सेवा में और पैदल मार्ग पर जाम की स्थिति पैदा न हो। पार्किंग पहले से ही फुल होने पर कुछ समय के लिये वाहनों को नीचे ही रोका जा रहा है, जबकि पैदल मार्ग पर घोड़े-खच्चरों को भी चरणवद्ध तरीके से भेजा रहा है।

    केदारनाथ धाम जाने के लिए श्रद्धालुओं का भारी हुजुम उमड़ रहा है। यात्रा मार्गो पर व्यवस्थाएं संभालने में पुलिस प्रशासन के पसीने छूट रहे हैं। धाम में रहने के लिए 12 हजार श्रद्धालुओं की ही व्यवस्था है, बावजूद इसके श्रद्धालु इससे कई ज्यादा संख्या में धाम में पहुंचकर व्यवस्थाओं में दिक्कतें पैदा कर रहे हैं। प्रशासन के कई बार समझाने पर भी भक्त मानने को तैयार नहीं है और धाम पहुंच रहे हैं। ऐसे में कई बार पुलिस जवानों और तीर्थ यात्रियों के बीच धक्का-मुक्की भी हो रही है, जिसके वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे हैं। भीड़ को संभालने में पुलिस के जवानों को दमखम लगाना पड़ रहा है। इन तमाम दुश्वारियों के बावजूद व्यवस्थाओं को बनाने में जिला प्रशासन जुटा हुआ है।

    वहीं सोनप्रयाग में पुलिस और यात्रियों के बीच हुई मारपीट का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने पर पुलिस उपाधीक्षक हर्षवर्द्धनी सुमन ने कहा कि कोतवाली सोनप्रयाग क्षेत्रान्तर्गत शटल पार्किंग जाने को लेकर यात्रियों को कतारबद्ध कराते हुए अपनी लाइन में लगने को लेकर अनाउंसमेंट करने के साथ ही लाइन लगवाई जा रही थी। इस प्रकार की व्यवस्था बनाते समय कुछ यात्रियों का एक समूह लाइन में न लगते हुए सीधे आगे बढ़ने लगा। ड्यूटी पर नियुक्त पुलिस कर्मी ने इनको रोकने का प्रयास करने पर ये नहीं माने और इन्होंने पुलिस बल के साथ अभद्रता की और मारपीट पर उतारू हो गए। जिस पर इन यात्रियों के समूह में से उग्र होकर मारपीट के लिए उतारू होने वाले यात्री को पुलिस के स्तर से शान्त कराते हुए उग्र होने से रोका गया। पुलिस स्तर से इस मामले में आवश्यक विधिक कार्यवाही की गई है। उन्होंने कहा कि पुलिस बल व प्रशासन के साथ अभद्र व्यवहार किसी भी दशा में स्वीकार्य नहीं होगा।

    इधर, जिलाधिकारी डाॅ सौरभ गहरवार ने कहा कि जिला प्रशासन यात्रा व्यवस्थाओं को दुरूस्त करने में जुटा हुआ है। भारी संख्या में श्रद्धालु केदारनाथ धाम की यात्रा पर पहुंच रहे हैं। जो बिना पंजीकरण और रजिस्ट्रेशन के पहुंच रहे हैं, उन्हें रोका जा रहा है। बावजूद इसके बड़ी संख्या में लोग केदारनाथ धाम जाने को लेकर आतुर हैं। हर दिन यात्रा में भक्तों की भीड़ उमड़ रही है। इन तमाम दिक्कतों के बावजूद भी जिला प्रशासन मुस्तैदी से जुटा हुआ है।