कुंभ मेला पुलिस ने 400 से अधिक बिछड़ों को अपनों से मिलाया

0
181
कुंभ
FILE
कुंभ हमेशा से ही स्नान और संतो के अलावा अगर किसी कारण से चर्चित रहा है, तो वह है कुंभ में अपनों से बिछड़ने के मामलों में। इस बार कुंभ में लोग अपनों से न बिछड़ें, इसके लिए कुंभ पुलिस ने जहां खोया-पाया सेंटर बनाया है, वहीं, लेटेस्ट टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर पुलिस कुंभ में खोए हुए लोगों को अपनो से मिलाने का काम कर रही है। कुंभ में बिछड़ने वाली कहावत को इस बार कुंभ मेला पुलिस उल्टा करने के मूड में है।
कुंभ 2021 में उत्तराखंड पुलिस लोगों के खोने और उनको अपने परिजनों से मिलाने के लिए खोया-पाया केंद्र खोला है, जिसके बारे में जानकारी  कुंभ मेला आईजी संजय गुंज्याल ने बताया कि “कुंभ पर्व के पहले स्नान से ही खोया-पाया केंद्र कार्य कर रहा था। यह पहले ट्रायल के रूप में ही कार्य कर रहा था, जिसमें पुलिस को बिछड़े हुए परिवारों को मिलाने में खासी सफलता मिली।”
उनके अनुसार पिछले स्नान में लगभग 400 लोगों को उनके परिजनों से मिलवाया गया। कुंभ में कोई अपने परिवार से न बिछुड़े, इसके लिए कुंभ मेला क्षेत्र में हर सेक्टर में एक खोया-पाया सेंटर बनाया जाएगा।  लेटेस्ट टेक्नोलॉजी का प्रयोग करते हुए एक सॉफ्टवेयर तैयार किया गया है, जिसके माध्यम से केवल 30 सेक्टरों में बने खोया-पाया सेक्टर ही नहीं कुंभ पुलिस में लगा हर पुलिसकर्मी खोया-पाया सेंटर के तौर पर कर पाएगा।
गैरतलब है कि कुंभ जैसे विशाल और भव्य आयोजन में पुलिस के लिये कई तरह की चुनौतियां रहते हैं। इनमे सुरक्षा और व्यवस्थाओं के साथ साथ यहां आने वाले लोखों लोगों की सुविधा का ध्यान रखना भी शामिल होता है। कोरोना के कारण इस बार महा कुंभ शायद उतने व्ययापक स्तर पर न हो रहा हो, लेकिन, उत्तराखंड पुलिस के लिये चुनौतियों में कोई कमी नहीं आई है। कुंभ मेला पुलिस हर समय मेले में आने वाले श्रद्धालुओं के लिये इस यात्रा को यादगार बनाने की कोशिशों में लगी है।