भारतीय सेना को मीले 306 नये जाबांज अफसर

0
64

आईएमए पासिंग आउट परेड का आयोजन राजधानी देहरादून के आईएमए में आयोजित की गई, जिसमें देश के रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बतौर रिव्यूइंग अफसर परेड की सलामी ली। इस पेसिंग आउट परेड में 306 जैंटेलमेन कैडेट भारतीय सेना का हिस्सा बने साथ ही देवभूमि के जांबाजों का जोश भी पीओपी में दिखा। पासिंग आउट परेड में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिह रावत ने भी शिरकत की।

पासिंग आउट परेड समाप्त होते ही नये सैन्य अफसरों ने अपनी टोपी आकाश की ओर उछालकर अपनी खुशी का इजहार किया तो उनके घर वालो की खुशी का भी ठिकाना नही रहा।

युवाओं में देशभक्ति का जज्बा कूट-कूट कर भरा हुआ है। हर छह महीने बाद होने वाली भारतीय सैन्य अकादमी की पासिंग आउट परेड में इसकी झलक देखने को मिलती है। उत्तराखंड प्रदेश की आबादी देश की आबादी का महज 0.84 फीसद है लेकिन पीओपी में पहाड़ का जोश खूब हिलोर मारता है।

आइएमए से कुल पास आउट होने वाले 306 भारतीय कैडेटों में राज्य के सहयोग का स्तर 19 कैडेटों के साथ छह प्रतिशत से ऊपर है, इस बार पीओपी में नये सैन्य अधिकारियों का राज्यवार आंकड़ा इस प्रकार रहा।

इस बार कुल 306 जेंटलमैन केडेडस में सबसे ज्यादा उत्तरप्रदेश-56, हरियाणा-39, बिहार-24, राजस्थान-21, उत्तराखंड-19, हिमाचलप्रदेश-18, महाराष्ट्र-19, दिल्ली-16, पंजाब-11, मध्यप्रदेश-10, केरल-10, तमिलनाडु-9,जम्मू-कश्मीर-6, कर्नाटक-7, पश्चिम बंगाल-6, आंध्रप्रदेश-6, तेलंगाना-5, मणिपुर-4, झारखंड-4, चंडीगढ़-4, गुजरात-4, असम-2, उड़ीसा-1, मिजोरम-1, सिक्किम-1 जबकि दो कैडेट नेपाल से रहे।

आईएमए पासिंग आउट के दौरान उससे लगा nh74 बन्द रहता है जिससे आम आदमी को काफी लंबा रास्ता तय करने के साथ ही जाम जैसी समस्याओं से जूझना पड़ता है आज इस समस्या के समाधान और जाम की समस्या से निपटने के लिए आईएमए के नॉर्थ, साउथ और सेंटर बिल्डिंग के बीच से गुजरने वाली nh72 सड़क में दो अंडर पास बनने की रक्षा मंत्री ने मंजूरी दे दी है। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने बड़ा एलान किया और कहा कि IMA के नार्थ और साउथ कैम्पस के बीच से गुजरने पर अब लोगों को जाम से दोचार नही होना पड़ेगा अब यहां पर 33 करोड़ की लागत से NH72 पर अंदर पास बनेगा।