आईआईटी ने तैयार किया 20 पैसा किमी की दर से चलने वाला इलेक्ट्रॉनिक स्कूटर होप’

0
134
आईआईटी

देश में बढ़ते प्रदूषण, पेट्रोल और डीजल की कीमतों में वृद्धि के बीच भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), दिल्ली के छात्रों ने 20 पैसा किमी की दर से चलने वाला इलेक्ट्रॉनिक स्कूटर तैयार किया है।

भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान (आईआईटी), दिल्ली द्वारा इंक्युबेटेड स्टार्टप गेलियोस मोबिलिटी ने इलेक्ट्रिक स्कूटर ‘होप’ लॉन्च किया है। इस स्कूटर की अधिगतम गति 25 किलोमीटर प्रति घंटा है। यह स्कूटर ऐसे वाहनों की श्रेणी में शामिल हैं, जिन्हें सड़क पर चलाने के लिए ड्राइविंग लाइसेंस या पंजीकरण की आवश्यकता नहीं होती है।

यह स्कूटर, कंपनी द्वारा विकसित बैटरी मैनेजमेंट सिस्टम, डाटा मॉनिटरिंग सिस्टम और पेडल असिस्ट यूनिट जैसी आधुनिक तकनीकों से युक्त है। इसमें इंटरनेट ऑफ थिंग्स (आईओटी) का समावेश किया गया है, जिससे डेटा एनालिटिक्स के माध्यम से स्कूटर की जानकारी मिलती रहती है। ‘होप’ के साथ पोर्टेबल चार्जर और पोर्टेबल लिथियम आयन बैटरी आती है, जिसे घर में उपयोग होने वाले सामान्य प्लग से चार्ज कर सकते हैं। जिससे पार्किंग की जगह पर चार्जर की अतिरिक्त आवश्यकता नहीं होती है। सामान्य बिजली से यह बैटरी 4 घंटे में पूरा चार्ज हो जाती है। अपनी आवागमन की जरूरतों के हिसाब से आदर्श स्थिति में ग्राहकों के पास दो अलग-अलग रेंज 50 किलोमीटर और 75 किलोमीटर की बैटरी क्षमता का चयन करने का विकल्प है।

गेलियोस मोबिलिटी के फाउंडर व सीईओ आदित्य तिवारी ने बताया कि तीन वर्ष पूर्व गेलियोस मोबिलिटी की शुरुआत ईको-फ्रेंडली आवागमन तंत्र विकसित करने के दृष्टिकोण से की गई थी। इस प्रयास में ‘होप’ की लॉन्चिंग एक प्रमुख कदम है। इस स्कूटर की कीमत मात्र 46,999 रुपये से शुरू होती है, जो इसे मार्केट का सबसे किफायती इंटरनेट कनेक्टेड स्कूटर बनाता है। वर्तमान में दिल्ली एनसीआर के लिए बुकिंग प्रारंभ कर दी गई है। अन्य शहरों के लिए इस वर्ष के मध्य तक उपलब्ध होगी। उल्लेखनीय है कि गेलियोस मोबिलिटी उन चुनिंदा कंपनियों में से है, जिसके द्वारा स्कूटर में पेडल असिस्ट सिस्टम जैसा विशेष फीचर दिया गया है।