कैसी होगी नंदादेवी लोकजात यात्रा?

0
149
लोकजात

चमोली जिले की प्रसिद्ध नंदा देवी लोकजात यात्रा के आयोजक चिंतित हैं। यात्रा का आयोजन अगस्त माह के अंत में किया जाना है। वर्तमान में बारिश से यात्रा के क्षतिग्रस्त मार्ग को दुरुस्त करने को लेकर कोई कार्रवाई शुरू नहीं हो सकी है। ऐसे में सिद्धपीठ कुरुड़ मंदिर समिति के पदाधिकारियों ने प्रशासन से संज्ञान लेकर शीघ्र कार्रवाई करने की मांग की है।

यह यात्रा विभिन्न पडावों से होते हुए वेदनी और बालापाटा में पूजा-अर्चना के बाद सम्पन्न होती है। हाल यह है कि यात्रा मार्ग झाड़ियों से पटे हुए हैं। कई स्थानों पर बारिश के चलते रास्ते क्षतिग्रस्त हैं। मंदिर समिति के अध्यक्ष मंशाराम गौड़, बाबा उदय सिंह और भागवत सिंह बिष्ट का कहना है कि यात्रा मार्ग पर चरबंग, कुमजुग, मथकोट, तोली, सरपानी, लाखी, भेंटी, स्यारी और बंगाली गांवों में पैदल रास्ते क्षतिग्रस्त हैं। उन्होंने जिला प्रशासन से शीघ्र पैदल मार्ग को दुरुस्त करने की मांग की है।