पलायन से खाली हुए गांव के पुनर्वास में जुटे गोपथला के ग्रामीण

0
58
गोपेश्वर। चमोली जिले के कर्णप्रयाग विकासखंड के गोपथला गांव के पुनर्वास के लिए प्रवासी ग्रामीण गांव पहुंचने लगे है। ग्रीष्मकाल में गांव पहुंचे ग्रामीणों ने यहां सोमवार को बैठक कर गांव को नई संजीवनी देने का निर्णय लिया। जिसके लिए एक कमेटी का गठन भी किया गया है।
जल्द समिति को पंजीकृत कर समिति के दिशा निर्देश में गांव में पुनर्वास, बिजली, पानी सहित अन्य समस्याओं को हल करने का निर्णय लिया गया।
गोपथला विकास समिति के सचिव मनीष डिमरी ने बताया कि डिम्मर ग्राम पंचायत के राजस्व गांव गोपथला पलायन से खाली हो गया। कभी तीस से अधिक परिवारों वाले गांव में आज महज तीन परिवार रह गए हैं। इस बार ग्रीष्मकाल में यहां करीब 15 से अधिक परिवार पहुंचे। जिस पर ग्रामीणों ने अपने मकानों को ठीक किया। साथ ही गांव को पुनः बसाने का निर्णय लिया। बताया कि समिति के अनुसार हर माह गांव में एक परिवार आकर गांव की साफ सफाई, बिजली, पानी और अन्य व्यवस्थाएं सुचारू करेगा। साथ ही नई पीढ़ी को गांव से जोड़ने के लिए गांव में धार्मिक कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा।
बैठक में इस अभियान को चलो गांव की ओर का नारा दिया गया। इस बैठक में बनी कमेटी में गिरीश डिमरी को अध्यक्ष, टीका डिमरी को उपाध्यक्ष, मनीष डिमरी को सचिव और अरविंद डिमरी को कोषाध्यक्ष मनोनीत किया गया। बैठक में पीतांबर डिमरी, रमेश डिमरी, पंकज डिमरी, सतीश डिमरी, हरीश डिमरी, धनेश, मुकेश,, संतोष, नवीन, कमला देवी, गुड्डी देवी, अभिषेक आदि ने विचार व्यक्त किए।