गौचर मेले को दिया जायेगा और अधिक भव्य रूप 

0
14
गोपेश्वर। राज्य स्तरीय 69वें औद्योगिक विकास एवं सांस्कृतिक गौचर मेला की तैयारियों को लेकर पहली बैठक जिलाधिकारी एवं मेला अध्यक्ष स्वाति एस भदौरिया की अध्यक्षता में नगर पालिका सभागार गौचर में संपन्न हुई। बैठक में मेले को और अधिक भव्य रूप दिये जाने के लिए विचार विमर्श किया गया।
जिलाधिकारी ने कहा कि सभी के सहयोग से पिछला गौचर मेला का सफल आयोजन किया गया। कहा कि इस वर्ष भी मेले का आयोजन विगत वर्षो से और अधिक आर्कषक एवं प्रभावी ढंग से किया जायेगा, जिसके लिए जनप्रतिनिधियों, सामाजिक कार्यकर्ताओं एवं स्थानीय लोगों से सुझाव लिये जा रहे हैं। सभी सुझावों को मेला समिति में रखकर गंभीरता से विचार किया जाएगा तथा सभी के सहयोग से मेले का भव्य एवं सफल आयोजन किया जाएगा।
उन्होंने कहा कि गौचर मेला एक बहुआयामी राज्य स्तरीय मेला है। इसमें स्थानीय कलाकारों के साथ-साथ बाहरी राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर के कलाकारों को भी अपनी प्रतिभा दिखाने का अवसर दिया जाएगा। इस बार मेले में उच्च स्तरीय सांस्कृतिक कार्यक्रम, खेलकूद प्रतियोगिताओं के साथ-साथ एडवेंचर स्पोर्टस, फूड फेस्टिवल, फिल्म फेस्टिबल आदि कार्यक्रम भी शामिल किए जाएगें।
जिलाधिकारी ने एसडीएम/मेला अधिकारी को मेले के सफल संचालन के लिए सभी समितियों का गठन करने तथा समिति के दायित्व निर्धारित करते हुए जिम्मेदारी तय करने के निर्देश दिए।
बैठक में कर्णप्रयाग के विधायक सुरेंद्र सिंह नेगी ने कहा कि लोगों तक सरकार की जन कल्याणकारी योजनाओं को पहुंचाने के लिए गौचर मेला एक बहुत अच्छा माध्यम रहा है। मेला अधिकारी एसडीएम कर्णप्रयाग देवानंद शर्मा ने जानकारी देते हुए कहा कि विगत वर्ष-2018 में आयोजित गौचर मेले पिछला अवेशष 25.62 लाख मिलाकर कुल 75.84 आय प्राप्त हुई, जिसमें से मेले के संचालन पर 67.54 लाख व्यय हुआ है। मेला समिति के पास कुल अवशेष धनराशि 8.29 लाख उपलब्ध है।