मेरी छवि को धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा : गणेश गोदियाल

0
64
गणेश

बदरीनाथ-केदारनाथ मंदिर समिति के पूर्व अध्यक्ष एवं कांग्रेस नेता गणेश गोदियाल ने समिति में वित्तीय अनियमितताओं के आरोपों को सिरे से नकारते हुए कहा है कि यह सिर्फ मेरी छवि को धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा है।

शुक्रवार को आयोजित पत्रकार वार्ता में गणेश गोदियाल ने कहा कि 2012 की कमेटी भारतीय जनता पार्टी की थी, उस समय मैं अध्यक्ष था। उन्होंने कहा कि जोशीमठ नरसिंह मंदिर में ठेकेदार ने अधूरा काम छोड़ दिया था। दो साल काम बंद रहा, इसलिए मंदिर समिति के इंजीनियरों ने इसे दैनिक मजदूरी पर काम कराया। जिस काम को कोई नहीं कर सकता था उसे हमने पूरा करने का प्रयास किया।

गोदियाल ने कहा कि भाजपा को मेरे किए गए काम खटक रहे हैं। उन्होंने प्रश्न उठाते हुए कहा कि यदि शिकायतकर्ता को आपत्ति थी तो उसने धन सिंह रावत को पत्र क्यों लिखा, विभागीय मंत्री से क्यों नहीं मिला। उन्होंने कहा कि मेरे ऊपर 10 करोड़ का आरोप लगाया गया है जबकि विनसर मंदिर का बजट चार करोड़ रुपये था, जिसमें तीन करोड़ 25 लाख रुपये खर्च हुए। यह सिर्फ मेरी छवि को धूमिल करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि आशुतोष डिमरी को अगर कोई आपत्ति थी तो इसकी शिकायत विभागीय मंत्री से करते।

उल्लेखनीय है कि बीकेटीसी के सदस्य आशुतोष डिमरी ने वर्ष 2012 से 2017 तक गोदियाल के कार्यकाल में वित्तीय अनियमितता का आरोप लगाते हुए कैबिनेट मंत्री डॉ धन सिंह रावत को शिकायती पत्र भेजा था।