शानदार इमारत के लिए प्रसिद्ध है एफआरआई

0
4326
हिमालय की गोद में उत्तराखंड के देहरादून जिले में वन अनुसंधान (एफ आर आई) फारेस्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट ऑफ़ इंडिया कौलागढ़ रोड स्थित प्रमुख अनुसंधान संस्थान है।एफ आर आई सन 1906 में स्थापित किया गया था और लगभग 450 हेक्टेयर के एक बड़े क्षेत्र में फैला हुआ है। एफ आर आई अपनी शानदार इमारत से पूरे देश में प्रसिद्ध है देहरादून में लोगो की पहली पसन्द  एफ आर आई की इमारत है। यह इमारत ब्रिटिशर्स के समय की बनी हुई है। इसके अलावा इंदिरा गांधी राष्ट्रीय वन अकादमी भी यही स्थित है साथ ही (आई एफ एस) इंडियन फारेस्ट सर्विसेज से  चुने हुए छात्र यहाँ ट्रेनिंग कर ऑफिसर्स  तैयार  कराता  है।
एफ आर आई परिसर में फारेस्ट से सम्बंधित छह  म्यूजियम है जिसमे फारेस्ट साइंस , सामाजिक विज्ञान, विकृति विज्ञानं, गैर-लकड़ी, लकड़ी और कीट विज्ञानं के किस्मो का प्रदर्शन प्रदर्शित करते हैं। म्यूजियम के अलावा एक सुंदर वनस्पति उघान भी है। ये ऐसी जगह है जहाँ पर पर्यटक दूर-दूर से आकर आनंद लेते हैं और यहाँ के इतिहास से भी रूबरू  होते हैं। एफ आर आई सन 1878 में ब्रिटिश इम्पीरियल फारेस्ट स्कूल के तौर पर स्थापित हुआ था पर बाद में वह सन 1906 में दुबारा स्थापित कर फारेस्ट रिसर्च इंस्टिट्यूट बनाया गया और सन 1991 में डीम्ड विश्विद्यालय घोषित कर दिया गया।
इसके अलावा यहां आये  पर्यटक  इमारतों को देख लुफ्त उठाते हैं व फोटोग्राफी का भी आनंद लेते हैं।
वहां पर आये एक चंडीगढ़ से पर्यटक  रचना  से बात करते हुए उन्होंने बताया कि वे जब भी देहरादून आती  हैं तो ऍफ़ आर आई की इमारत देखे बिना नहीं जाते हैं। साथ ही हिन्दी फिल्म सिनेमा में भी एफ आर आई की इमारत बहुत प्रसिद्ध है। कहीं फिल्म निर्माता अपनी फिल्म की शूटिंग के लिए इस इमारत को  पहली पसन्द मानते हैं। जैसे स्टूडेंट ऑफ़ दी ईयर, रहना है तेरे दिल में, देहरादून डायरी और विज्ञापन की क्षेत्र में बॉर्नविटा की भी शूटिंग यहां पर हुई है  यह भी एक वजह है कि एफ आर आई पुरे विश्व में प्रसिद्ध होता  जा रहा  है। साथ ही ऍफ़ आर आई भारत के लिए गौरव  की बात है क्योंकि यह हमारे मुख्य इतिहास से जोड़ता है देश आजाद होने से पहले जो इमारते बनती होगी उससे भी वाकिफ करवाता है। इस इमारत ने देश की आजाद होने से लेकर कहीं ऐसी चीजों की याद दिला देता है जो लोगो के लिए बहुमूल्य है। देहरादून के लिए एफ आर आइ एक विरासत है ऐसी प्रतिष्ठा संस्थान का पूर्ण रूप से इज्जत व ख्याल रखना चाहिए। ऍफ़ आर आई एक प्रमुख वन संस्थान है जो भारत के लिए प्रतिष्ठा प्रधान करता है।