उत्तर प्रदेश के बाद अब उत्तराखंड में लैपटॉप राजनीति

0
677

मुख्यमंत्री हरीश रावत ने शुक्रवार को समाज कल्याण विभाग द्वारा बीजापुर हाउस में आयोजित एक कार्यक्रम में एस0सी0/एस0टी0 के मेडिकल/इंजीनियरिंग के छात्र-छात्राओं को लैपटाॅप वितरित किए। इस अवसर पर अरविन्द सिंह चैहान, हिमांशु राणा, नेहा आर्य, अमरीश कुमार, शुभम, पंकज, पूजा, रितिका एवं वैशाली को लैपटाॅप वितरित किए गए। मुख्यमंत्री ने इस मौके पर विभाग को बधाई देते हुए कहला कि इस योजना की स्वीकृति पहले ही दी जा चुकी थी परन्तु तकनीकी समस्याओं के कारण इसमें कुछ विलम्ब हो गया। इस योजना से कमजोर वर्गों के मेधावी छात्रों को अपने अध्ययन में सहायता मिलेगी।
गौरतलब है कि इस स्कीम के तहत समाज कल्याण विभाग द्वारा 1425 लैपटाॅप एस0सी0/एस0टी0 वर्ग के मेडिकल/इंजीनियरिंग के छात्र-छात्राओं को वितरित किए जाने है। जिनमें से आज तीन जिलों से आये 9 छात्र-छात्राओं को लैपटाॅप वितरित किए गए। चुनावी माहौल में उत्तर प्रदेश की तर्ज़ पर राज्य में लैपटॉप बाँट कर वोटर और ख़ासतौर पर युवा वोटरों को अपनी ओर करने की कोशिश की गई है। राज्य में आचार संहिता किसी भी समय लग सकती है ऐसे में आनन फ़ानन में ये कार्यक्रम किया गया। इस स्कीम के अंतर्गत क़रीब 1500 छात्रों को लैपटॉप दिये जाने हैं लेकिन ज़ाहिर सी बात है कि राज्य में हज़ारों ऐसे छात्र छात्राएँ हैं जो बेहतर सुविधाओं के अभाव में सही तरीके से अपना पढ़ाई पूरी नहीं कर पाते। ज़रूरत है ऐसे सभी छात्रों को बेहतर सुविधाएँ देने के लिये पॉलिसी बनाने की जिसके चलते ठीक चुनावों से पहले फ़्री की रेवड़ियां बाँटने की ज़रूरत न पड़े।