एफटीआईआई का 5 दिवसीय फिल्म एप्रीसिऐशन कोर्स का नैनीताल में आयोजन

    0
    603

    नैनीताल, फिल्म साक्षरता फैलाने और सिनेमा की बेहतर समझ को बढ़ावा देने के अपने मिशन को ध्यान में रखते हुए, फिल्म एंड टेलीविज़न इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया (एफटीआईआई) पुणे, ने नैनीताल, उत्तराखंड में 5 दिवसीय फिल्म एप्रशियेशन कोर्स का आयोजन किया है।

    यह कोर्स नैनीताल के हिमालयन सोसाईटी ऑफ आर्ट, कल्चर, एजुकेशन, इनवायरमेंट एंड फिल्म डेवलेपमेंट (एचआईएमएसीईईएफ) जिसको फिल्म मेकर और एकेडमिशियन राजेश शाह (सिनेमेटोग्राफी,1992 एफटीआईआई) और शालिनी शाह के संरक्षण में आयोजित किया जा रहा है।

    11 अप्रैल से शुरु होने वाले 5 दिन के इस वर्कशॉप में भाग लेने वाले प्रतिभागियों को सिनेमा के बारे में कई विचारों को प्रस्तुत किया जाएगा:

    इस वर्कशॉप के मुख्य तत्व होंगे

    • बेसिक कांसेंप्ट ऑफ फिल्म
    • सिनेमा के इतिहास में कुछ विषय
    • फ़िल्में कैसे बनाई जाती हैं
    • फिल्मों के प्रकार
    • प्रयोगात्मक फिल्में
    • एनीमेशन फिल्में
    • फिल्म शैलियां
    • शॉर्ट फिल्म विश्लेषण और
    • कुछ फिल्मों की स्क्रीनिंग आदि।

    शुभामोय सेनगुप्त और बेला नेगी दोनों एफटीआईआई के छात्र हैं, और कोर्स डायरेक्टर्स हैं।

    ”फिल्म एप्रीशियेशन कार्स हमेशा से ही एक प्रकार की चुनौती रहा है।इसमें भाग लेने वाले प्रतिभागी अलग विषयों, विभिन्न आयु समूहों और विभिन्न व्यवसायिक ग्रुप से आते हैं। केवल सिनेमा के लिए प्रेम सबको जोङता है,” एफटीआईआई के निदेशक भूपेन्द्र कैंथोला ने कहा।

    सुभमोय सेनगुप्ता कहते हैं कि, “पाठ्यक्रम का महत्वपूर्ण उद्देश्य सिनेमा के बारे में सोच को एक कंसिसटेंट ढांचे की प्रस्तुति देना है, हालांकि यह एक फिल्म बनाने का कोर्स नहीं है और इसमें कोई प्रेक्टिकल अभ्यास नहीं होगा। फिल्म अभ्यास के कुछ मूलभूत मुद्दे जैसे डायरेक्शन,एडिटिंग,स्क्रीन राईटिंग के बारे में बताया जाएगा जिससे फिल्म की भाषा को समझने में आसानी हो।”

    एफटीआईआई ने अब तक मुंबई, पुणे, नागपुर, अमरावती, आईआईटी बॉम्बे, आईआईटी रुड़की, श्रीनगर, अहमदाबाद विश्वविद्यालय, अहमदाबाद, भुवनेश्वर, जयपुर, गुड़गांव, गुवाहाटी, हरिद्वार और श्रीनगर (उत्तराखंड) में शॉर्ट ड्यूरेशन के फिल्म एस्पेरिएशन पाठ्यक्रम आयोजित किए हैं।