प्रवासियों को जिले की सीमाओं पर ही किया जायेगा क्वारंटाइन: डीएम

0
65
डीएम
डीएम मंगेश घिल्डियाल ने जिले में आने वाले प्रवासियों को लेकर प्लान प्रस्तुत किया। उन्होंने बताया कि अब प्रवासियों को जिले की सीमा के आसपास के होटलों, धर्मशालाओं व सरकारी भवनों में संस्थागत एकांतवास (क्वारंटाइन) केन्द्र पर रखा जायेगा। इनके लिये खाने-पीने सहित साफ-सफाई व्यवस्था का पूरा ध्यान रखने के निर्देश दिये हैं। इसके लिए जिम्मेदारियों को बांट दिया गया है। उन्होंने जनपद में अब तक 19 कोरोना पाजिटिव केस होने की जानकारी देते हुये बताया कि सभी महाराष्ट्र से आये हैं। इन सभी को सुरसिंगधार नर्सिंग कालेज में आईसालेट किया जा रहा है। नर्सिंग कालेज की क्षमता को 250 तक बढ़ाया जायेगा।
नव नियुक्त डीएम घिल्डियाल ने पहली बार पत्रकारों से रूबरू होते हुये बताया कि जनपद में अब तक बाहर से 25 हजार 997 लोग आये हैं, जिनमें से 14720 को संस्थागत एकांतवास में और 11277 को होम एकांतवास किया गया है। जिले में अब तक 520 की सैंपलिंग की गई है, जिनमें से 130 निगेटिव, 19 पाजिटिव रिपोर्ट आयी है और 371 लोगों की रिपोर्ट आनी बाकी है। प्रवासियों के एकांतवास के लिए 405 होटलों में 6675 कमरों की व्यवस्था की गई है। तहसीलों में भी एसडीएमों के माध्यम से होटलों की व्यवस्था की जा रही है। होटलों को स्वयंसेवकों की मदद से सेनेटाइज और साफ करवाया जायेगा।
उन्होंने बताया कि एकांतवास के दौरान नो टच पालिसी अपनाई जायेगी। जिसके लिए ड्यूटी करने वाले सभी कर्मचारियों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है। मुनि की रेती क्षेत्र में व्यवस्थाओं को सुधारने के लिए 30 पीआरडी जवान दिये गये हैं। इसके साथ ही एकांतवास केन्द्रों पर सुरक्षा की दृष्टि से कम से कम एक पीआरडी जवान तैनात करने की तैयारी है। गांव में ग्राम प्रहरी की मदद से सुरक्षा पर नजर रखी जायेगी। उन्होंने बताया कि इस समय 20 मेडिकल स्प्रे मशीन हैं, जो अपर्याप्त हैं। इन्हें बढ़ाने का काम किया जा रहा है। 3910 पीपीई किट हैं, 10 की डिमांड दी गई है। 5270 ली सोडियम हाईपो क्लाराईट छिड़काव के लिए खरीदा गया है, जिसे ओर बढ़ाया जा रहा है। प्रत्येक गांव को तीन-चार दिन के भीतर 10-10 लीटर दवा छिड़काव के लिए दी जायेगी। कर्मियों को ग्लब्स, सेनेटाइजर और मास्क भी पर्याप्त मात्रा में दिये जायेंगे।
जिलाधिकारी ने बताया कि गांव में प्रधानों को परेशानी न उठानी पड़े। इसके लिए समिति का गठन किया जा रहा है। समिति बाहर से आने वालों के एकांतवास का निर्णय लेगी। एकांतवास के नियमों का उल्लंघन करने वालों पर कड़ी कार्रवाई की जायेगी।
गांव के आसपास रोजगार की संभावानाओं पर विचार 
डीएम घिल्डियाल ने कहा कि कोरोना से लड़ने के साथ-साथ सरकार की रोजगारपरक योजनाओं को आम जनता तक पहुंचाने का काम किया जायेगा। बाहर से आने वाले प्रवासियों के लिए इस तरह की रोजगार की योजना बनाई जायेगी, ताकि उन्हें अपने गांव के आसपास की काम मिले। सरकारी योजनाओं की समीक्षा समय-समय पर की जाती रहेगी। ताकि जिले का विकास न पिछड़े। ग्राम पंचायत, बीडीसी और जिला पंचायत को मजबूत करने काम किया जायेगा।गर्भवती महिलाओं, नवजातों व बुजुर्गों पर भी सरकारी योजनाओं में फोकस किया जायेगा।