औली में संपन्न शाही शादी का निगरानी दल ने लिया जायजा

0
84
गोपेश्वर, औली में गुप्ता बंधुओं के बेटों के शाही शादी संपन्न होने के बाद जोशीमठ नगर पालिका ने औली में साफ-सफाई का कार्य पूरा कर लिया है।जिलाधिकारी चमोली स्वाति एस भदौरिया के नेतृत्व में निगरानी दल के आला अधिकारियों ने औली में विवाह समारोह के सभी आयोजन स्थलों का निरीक्षण कर मौजूदा स्थिति का जायजा लिया।
जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने निगरानी टीम के अधिकारियों के साथ औली में विवाह समारोह के आयोजन के लिए उपयोग में लाए गए सभी स्थलों का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने औली में क्लीपटाॅप होटल, हेलीपैड के आसपास टेंट काॅलोनी में बनाए गए सोकपिट, मजदूरों के लिए बनाए गए अस्थाई शौचालय, औली में विभिन्न स्थलों पर की गई साफ-सफाई का स्थलीय निरीक्षण किया।
जिलाधिकारी ने कहा कि, “औली में विवाह समारोह से पहले और बाद की स्थिति का गहनता के साथ आकलन किया गया है। इस संबंध में पूरी रिपोर्ट उच्च न्यायालय को भेजी जाएगी। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि विवाह समारोह के दौरान विभिन्न व्यवस्थाओं पर निगरानी के लिए सौपें गए दायित्वों की फाइनल रिपोर्ट भी उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। इस दौरान उन्होंने जोशीमठ नगर पालिका के औली में सफाई कार्य पूरा किए जाने पर संतुष्टि व्यक्त की। “
निरीक्षण के दौरान अपर जिलाधिकारी एमएस बर्निया, उप जिलाधिकारी वैभव गुप्ता, ईई जल संस्थान प्रवीन कुमार सैनी, जिला पर्यटन अधिकारी बृजेंद्र पांडेय, उप वन संरक्षक टीएस साही, ईओ नगर पालिक एसपी नौटियाल आदि मौजूद थे।
उच्च न्यायालय ने दिए थे आदेश 
उच्च न्यायालय ने औली में शादी समरोह के आयोजन से पर्यावरण को होने वाले नुकसान पर जिला प्रशासन को निगरानी रखने और इस संबंध में रिपोर्ट उपलब्ध कराने के आदेश दिए थे। हाईकोर्ट के आदेशानुसार जिलाधिकारी ने औली में विवाह समारोह के आयोजन को लेकर की जा रही व्यवस्थाओं की निरंतर मानिटरिंग के लिए प्रशासन के आला अधिकारियों की निगरानी टीम गठित की थी। शादी समारोह से लेकर अब तक जिलाधिकारी ने स्वयं भी तीन बार औली का निरीक्षण कर स्थिति का जायजा लिया। निगरानी टीम ने 18 से 22 जून तक विवाह समारोह की प्रत्येक गतिविधि तथा विवाह संपन्न होने के बाद 28 जून व तीन जुलाई को औली का स्थलीय निरीक्षण कर मौजूदा परिस्थितियों का जायजा लिया। जल्द ही निगरानी टीम अपनी फाइनल रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंपेंगे।