देवप्रयागः सर्च के दौरान एसडीआरएफ को मिला 8 लाख कैश और जेवर, मालिक को लौटाए

    0
    136
    देवप्रयाग
    महामारी हो या दैवीय आपदा का कहर, एसडीआरएफ के जांबाज हर पल मुस्तैदी से अपना फर्ज निभाने को तत्पर रहते हैं। देवप्रयाग में मंगलवार को बादल फटने के बाद आई आपदा में राहत एवं बचाव कार्य के दौरान एसडीआरएफ की टीम को 8 लाख रुपये नकद और सोने-चांदी के कुछ आभूषण मिले, जिसे उन्होंने उसके मालिक तक पहुंचाते हुए अपनी ड्यूटी को बखूबी अंजाम दिया और ईमानदारी तथा कर्तव्य परायणता की मिसाल पेश की।
    दरअसल, मंगलवार को देवप्रयाग में दशरथ पर्वत पर बादल फटने की घटना से देवप्रयाग बाजार में भारी मात्रा में पानी एवं मलबा भर गया था। साथ ही आईटीआई का एक भवन और अनेक दुकानें भी इसकी जद  में आ गई थीं। वर्तमान में सम्पूर्ण उत्तराखंड में कोविड कर्फ्यू लागू किया गया है, जिसके कारण बाजार में आमजन की आवाजाही नहीं थी। नतीजतन, बादल फटने की घटना से जन हानि तो नहीं हुई, किन्तु अनेक दुकानों का सामान इसकी चपेट में आ गया।
    एसडीआरएफ के सेनानायक नवनीत भुल्लर के अनुसार घटना की सूचना प्राप्त होने पर एसडीआरएफ की एक टीम तत्काल ही सर्चिंग एवं बचाव कार्यों हेतु ऋषिकेश से देवप्रयाग को रवाना हुई थी। घटना में कोई जनहानि नहीं हुई है किन्तु संशय और आशंकाओं को समाप्त करने और एहतियात के तौर पर सर्चिंग की गयी। आम जन जहां सर्चिंग क्षेत्र में जाने से परहेज कर रहा था, वहीं एसडीआरएफ टीम ने बुधवार को एक स्वर्णकार की तिजोरी को मलबे से बाहर निकाला। जब तिजोरी को व्यवसायी और पुलिस के समक्ष खोला गया तो उसमें से 8 लाख रुपये ओर सोने-चांदी के जेवर बरामद हुए, जिन्हें सिविल पुलिस के माध्यम से स्वर्णकार को वापस किया गया।