घास ले जा रही महिलाओं के साथ बदसलूकी को लेकर किया प्रदर्शन

0
80

चमोली जिले के जोशीमठ विकास खंड के हेलंग में घास लेकर जा रही महिलाओं के साथ पुलिस और केंद्रीय पुलिस बल के जवानों की ओर से बदसलूकी की घटना तूल पकड़ी जा रही है। मंगलवार को विभिन्न राजनैतिक संगठनों के साथ ही क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों ने कर्णप्रयाग में जुलूस प्रदर्शन कर इस घटना की निंदा की और उप जिलाधिकारी कर्णप्रयाग के माध्यम से एक ज्ञापन मुख्यमंत्री को भेजकर घटना के दोषियों को बर्खास्त करने की मांग की है।

भाकपा माले के गढ़वाल सचिव इंद्रेश मैखुरी, पूर्व जिला पंचायत सदस्य बिरेंद्र मिंगवाल, पूर्व पार्षद सुरेशी देवी ने कहा कि वायरल हो रहे वीडियो में 15 जुलाई को जोशीमठ के हेलंग गांव में जंगल से घास ला रही महिलाओं से पुलिस और केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल के जवान न सिर्फ उनके घास के गट्ठर छीनते दिख रहे हैं बल्कि एक महिला रो रही है और दूसरी के साथ छीना झपटी हो रही है।

यह दृश्य इस राज्य में, जो कि महिलाओं के आंदोलन, उनकी शहादत और कुर्बानियों के बदौलत बना है। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में जल विद्युत परियोजनाओं के नाम पर हजारों हजार नाली नाप भूमि, जंगल, चरागाह की भूमि, पनघट, मरघट, पंचायत की भूमि, कंपनियों को पहले ही दे दी गयी है। इसके बाद भी कंपनियों की नीयत लोगों की सामूहिक हक-हकूक की भूमि को भी हड़प लेने की है। इससे आम ग्रामीणों के सम्मुख घास चारा लकड़ी का संकट पैदा हो गया है। जोशीमठ की घटना इसी का परिणाम है।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि जिला प्रशासन ने कंपनी के साथ मिलकर वन अधिकार कानून 2006, वन पंचायत नियमावली 2012 और वन संरक्षण अधिनियम 1980 का खुला उल्लंघन किया गया है। उन्होंने सरकार से मांग की है कि इस घटना की उच्चस्तरीय जांच की जाये। दोषियों पर तत्काल सख्त से सख्त कार्रवाई की जाय। जिम्मेदार अधिकारियों पर कार्रवाई हो। जलविद्युत परियोजना बनाने वाली कम्पनी के कार्यों की भी जांच हो, उनकी मनमानी पर रोक लगे और उनकी नियमित निगरानी की जाए।

प्रदर्शन करने वालों में भाकपा माले के गढ़वाल सचिव इंद्रेश मैखुरी, पूर्व जिला पंचायत सदस्य बिरेंद्र मिंगवाल, सुरेशी देवी, जिला सचिव, डीवाईएफआई राजेंद्र सिंह नेगी, संयोजक परिवर्तन यूथ क्लब अरविंद चैहान, किशन सिंह बिष्ट, धन सिंह बिष्ट, आशाराम मैखुरी, जितेंद्र कुमार, पवन बिष्ट, अनिल जोशी, सुनील चैहान, संजय सिंह, मिलन भंडारी आदि मौजूद थे।