राजधानी दिल्ली बनी गैस चैंबर, एक्यूआई पहुंचा 312

0
34

नई दिल्ली, दिल्ली-एनसीआर में आबोहवा दिन-ब-दिन खराब होती जा रही है। राजधानी में वायु प्रदूषण खतरनाक स्तर पर पहुंच गया है। दिल्ली और आसपास के इलाकों में लोगों को सांस लेने में परेशानी का सामना करना पड़ा रहा है। पृथ्वी विज्ञान मंत्रायल के प्रोजेक्ट ‘सफर’ (सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी वेदर फॉर कास्टिंग ऐंड रिसर्च) के अनुसार गुरुवार को दिल्ली का एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) 312 स्तर पर पहुंच गया।

एक्यूआई के आकड़ों के मुताबिक, मेजर ध्यानचंद स्टेडियम और इंडिया गेट पर पीएम 2.5 का स्तर 117 और पीएम 10 का स्तर 122 दर्ज किया गया। ‘सफर’ के अनुसार दिल्ली के अधिकांश इकालों में एयर क्वालिटी इंडेक्स बेहद खराब श्रेणी के स्तर पर पहुंच गया है। पीएम 2.5 का स्तर क्रमश:  धीरपुर में 317, दिल्ली विश्वविद्यालय में 322, चांदनी चौक में 341, एयर पोर्ट (टी 3) और लोधी रोड में 307 एवं आईआईटी दिल्ली में 313 दर्ज रहा। यह बेहद खराब श्रेणी है।

दिल्ली-एनसीआर की इस स्थिति पर गुरुवार दोपहर बाद  केंद्रीय पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावडेकर की अध्यक्षता उच्चस्तरीय आपात बैठक में उपायों की घोषणा हो सकती हैं। बैठक में दिल्ली, उत्तर प्रदेश, पंजाब, हरियाणा और राजस्थान के हालात पर चर्चा होगी। बैठक में इन राज्यों के पर्यावरण मंत्रियों और प्रमुख सचिवों को बुलाया गया है।

इस बीच दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने परिवहन विभाग के आला अधिकारियों की  बैठक बुलाई है। इस बैठक में अगले महीने लागू हेने वाले ऑड-इवन पर रणनीति बनाई जाएगी। माना जा रहा है कि केजरीवाल ऑड-इवन में दोपहिया वाहनों को छूट दे सकते हैं