कोरोना के इलाज में कारगर एंटीवायरल दवा वीराफिन को डीसीजीआई ने दी मंजूरी

0
189
उत्तराखंड
कोरोना के कोहराम के बीच राहत भरी खबर है। कोरोना के इलाज में कारगर पाई गई एंटीवायरल दवा वीराफिन को आपात इस्तेमाल के लिए भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने मंजूरी दे दी है। जायडस कैडिला की वीराफिन को वयस्क कोरोना मरीजों को दिया जा सकेगा। वीराफिन एक डोज की दवा है, जो कम गंभीर वाले कोरोना के मरीजों को देने से उसके शरीर के वायरस लोड को कम देता है, जिससे मरीज जल्दी ही स्वस्थ हो जाते हैं।
-एक डोज की वीराफिन जायडस कैडिला कंपनी ने बनाई
जायडस कंपनी के मुताबिक वीराफिन को मंजूरी मिलने से कोरोना संक्रमण से लड़ने में मदद मिलेगी। यह दवा कोरोना के मरीजों में वायरल लोड यानि वायरस की संख्या को कम करने में कारगर सिद्ध हुई। इसके तीसरे चरण के ट्रायल में कोरोना पॉजिटिव लोगों के सेहत में जल्दी ही सुधार देखा गया। कुछ मरीज एक सप्ताह के अंदर ही ठीक हो गए।

कंपनी ने एक प्रेस रिलीज जारी कर बताया कि Virafin एंटी वायरल दवा है, जोकि कोविड के हल्के संक्रमण वाले मरीजों के उपचार में इस्तेमाल किया जा सकता है। एक सिंगल डोज़ से मरीजों के इलाज में काफी मदद मिल सकती है।  कंपनी ने बताया है कि संक्रमण के शुरुआती स्टेज पर यह दवा देने से मरीज जल्दी ठीक हो सकते हैं और उनके शरीर में किसी कॉम्पलिकेशन से भी बचा जा सकता है। Virafin प्रिस्क्रिप्शन के साथ मिलेगी और  अस्पतालों और मेडिकल सेटअप में मेडिकल इस्तेमाल के लिए यूज़ हो सकेगी।

अहम बात है कि इसमें ऑक्सीजन सप्लाई की जरूरत को भी कम करने के प्रमाण की बात की गई है.।कंपनी ने बताया है कि Virafin ने प्रमाणित किया है कि इसे देने से मरीज को सप्लीमेंटल ऑक्सीजन की जरूरत कम पड़ती है, यानी कि साफ है कि इससे मरीजों में सांस संबंधी दिक्कतों पर काबू करने में मदद मिलती है।