एम्स ऋषिकेश में कोरोना संक्रमित दो लोगों की मौत

0
148
aiims
अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) ऋषिकेश में  गंभीर रोगों से पीड़ित दो कोरोना पॉजिटिव मरीजों की मृत्यु हो गई।  अब तक यहां  8 लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच मुंबई से ऋषिकेश आए एक अन्य मरीज की रिपोर्ट कोरोना पॉजिटिव आई है।
यह जानकारी शुक्रवार दोपहर संस्थान के नोडल अधिकारी कोविड मधुर उनियाल ने दी। उन्होंने बताया कि बीते गुरुवार रात तपोवन, ऋषिकेश के कोरोना संक्रमित 56 वर्षीय व्यक्ति की मृत्यु हो गई। वह यहां 1 जून से भर्ती थे। यह व्यक्ति  25 मई को मुंबई से तपोवन, ऋषिकेश स्थित अपने घर आए थे। 28 मई को सांस लेने में दिक्कत होने पर वह एम्स की ओपीडी में आए। उन्हें 1 जून को ऐक्यूट रेस्पिरेटरी डिस्ट्रेंस सिंड्रोम के चलते वेंटिलेटर पर रखा गया था तथा उसी दिन इनका कोरोना सैंपल लिया गया। वह इंकैंक्लुजिव पाया गया, लिहाजा इनका चार जून को दोबारा सैंपल लिया गया। वह पॉजिटिव आया । 6 जून को मरीज को कोविड आईसीयू में शिफ्ट किया गया । चिकित्सकों की लाख कोशिशों के बावजूद उन्हें नहीं बचाया जा सका। गुरुवार रात उनकी मृत्यु हो गई। इसके अलावा गाजियाबाद से 9 जून को एक 25 वर्षीया महिला पेट में दर्द व सांस लेने में तकलीफ की शिकायत लेकर एम्स की ओपीडी में आई थी। उनका कोविड सैंपल लेकर कोविड वार्ड में भर्ती किया गया। 11 जून को इनका सैंपल कोविड पॉजिटिव आने पर इन्हें कोविड वार्ड आईसीयू में शिफ्ट कर दिया गया।
चिकित्सकों के अनुसार इन्हें पिछले 10 दिनों से पेट में तेज दर्द, सांस लेने में तकलीफ के साथ ही पिछले तीन दिनों से तेज बुखार की शिकायत थी। इस महिला की शुक्रवार सुबह मृत्यु हो गई। इसके अलावा एक अन्य स्थानीय व्यक्ति का सैंपल भी पॉजिटिव आया है। गुमानीवाला, ऋषिकेश निवासी 55 वर्षीय व्यक्ति जो कि बीती 9 जून को मुंबई से ऋषिकेश आए थे और उसी दिन से घर में एकांतवास पर थे।  उन्हें दूसरे राज्य से आने की वजह से 9 जून को ही कोविड सैंपल के लिए लाया गया। उनकी रिपोर्ट शुक्रवार को पॉजिटिव आई है। इस बाबत संस्थान की ओर से स्टेट सर्विलांस ऑफिसर को सूचित कर दिया गया है।