समाज के हर कोने से सामने आ रहे हैं कोरोना योद्धा!!

0
219

कोरोना से लड़ाई में जहां एक तरफ सरकारें अपना जोर लगाये हुए हैं, वहीं, राज्य के अलग अलग और अनजान हिस्सों से रोजाना आम लोगों की कहानियां हमारे सामने आ रही हैं। यह वो कहानियां हैं जो दिखाती हैं कि भले ही छोटी सही लेकिन मदद की कोशिश हर कोने से हो रही है।

कोरोना वर्णमाला चार्ट से डॉ. राजे नेगी लोगों को कर रहे हैं जागरूक

दुनिया भर में लाखों लोगों को शिकार बना चुके कोरोना के खिलाफ समाजसेवी डॉ. राजे नेगी ने अपने तरीके से जंग छेड़ी है।व्यवसायिक शिक्षा के दौर में उड़ान शिक्षण संस्थान के जरिए तीर्थनगरी में गरीब बच्चों के लिए शिक्षा की अलख जगाने वाले समाजसेवी डॉ. राजे नेगी कोरोना वर्णमाला चार्ट के माध्यम से लोगों को जागरूक कर रहे हैं। उनका यह प्रयास लोगों को पंसद भी आ रहा है। डॉ. नेगी के अभियान की मैती सामाजिक संस्था की अध्यक्ष कुसुम जोशी, पर्यावरणविद् विनोद जुगलान, परशुराम महासभा की अध्यक्ष सरोज डिमरी सहित विभिन्न संस्थाओं ने मुक्त कंठ से सराहना की है।

संकल्प प्रकाश का प्रयास बना मील का पत्थर
-संस्था का व्हाट्स ऐप ग्रुप ‘फूड हेल्प हरिद्वार’ प्रशासन और सामाजिक संस्थाओं के बीच बना सेतु 
हरिद्वार, लॉक डाउन में ‘संकल्प प्रकाश’ संस्था का छोटा सा प्रयास मील का पत्थर साबित हुआ है। संस्था का व्हाट्स ऐप ग्रुप ‘फूड हेल्प हरिद्वार’ प्रशासन और सामाजिक संस्थाओं के बीच सेतु का काम कर रहा है। एक पोस्ट आते ही सामाजिक संस्थाएं सक्रिय हो जाती हैं और जरूरतमंदों तक चंद मिनटों में भोजन सामग्री और अन्य मदद पहुंच जाती है।
इस ग्रुप को 25 मार्च को संस्था के सदस्य शेखर सतीजा ने बनाया। इसमें कार्यकर्ताओं के साथ जिले के कुछ आला अधिकारियों को जोड़ा गया। तत्कालीन नोडल अधिकारी अपर मेलाधिकारी हरबीर सिंह व अपर मेलाधिकारी ललित नारायण मिश्रा को भी ग्रुप का एडमिन बनाया गया। तब किसी ने नहीं सोचा था कि यह ग्रुप कोरोना काल में भूखे लोगों का बड़ा सहारा बनेगा।
इस ग्रुप में 200 से ज्यादा सदस्य हैं। लगभग 25 प्रमुख संस्थाओं के साथ ही 40-50 वालंटियर्स और हरिद्वार के जिलाधिकारी सी.रविशंकर, सीडीओ विनित तोमर जैसे अधिकारी भी जुड़े हुए हैं।
संकल्प प्रकाश के संस्थापक कन्हैया खेवडिया का कहना है कि “यह हमारे लिए संतोषजनक है। क्षेत्र की सभी स्वयंसेवी संस्थाएं हमसे जुड़ीं। भूखे और बेसहारा लोगों की सेवा का संकल्प आज कल्पवृक्ष बन चुका है।” इस संबंध में नोडल अधिकारी नरेन्द्र यादव का कहना है कि “फूड हेल्प हरिद्वार ग्रुप से संस्थाओं और प्रशासन के बीच आपासी समन्वय बढ़ा है। ग्रुप के माध्यम से एक-दूसरे से जानकारी साझा कर जरूरतमंदों तक हर संभव मदद पहुंचाई जा रही है।”