उत्तराखंड कोरोना: देहरादून में दो इलाके कंटेनमेंट जोन घोषित

0
36
कोरोना
file

कोरोना संक्रमण बढ़ने पर दून के दो इलाके फिर कंटेनमेंट जोन घोषित किए गए हैं। दोनों इलाकों में बुधवार को कोरोना के कई-कई पाजिटिव केस सामने आए थे। जानकारी के मुताबिक फरवरी महीने से अब तक जिले में कोरोना को लेकर कोई कंटेनमेंट जोन नहीं बना था। जिलाधिकारी डा. आर राजेश कुमार ने दून में शहरी क्षेत्र में दो कंटेनमेंट जोन बनाए जाने का आदेश जारी किया है।

उत्तराखंड में गुरुवार को कोरोना के आठ नए मरीज मिले और 31 मरीजों को इलाज के बाद डिस्चार्ज किया गया। इंदिरा गांधी नेशनल एकेडमी के ओल्ड हॉस्टल एफआरआई और जी-2 बी-19 तिब्बतन कालोनी डिक्लिन, सहस्त्रधारा रोड, कुल्हाल में कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति मिलने पर दोनों क्षेत्र कंटेनमेंट जोन बनाए गए हैं।

उन्होंने बताया कि उप जिलाधिकारी सदर मनीष कुमार को उक्त क्षेत्रों में कांटेक्ट ट्रेसिंग और प्रभावी सर्विलांस कराने की जिम्मेदारी सौंपी है। मुख्य चिकित्सधिकारी को इन क्षेत्रों में अधिक से अधिक लोगों के सेंपल लेने के साथ ही नियमित मानिटरिंग का निर्देश दिया है। प्रतिबंधित क्षेत्रों में लोगों की आवाजाही बंद रहेगी। ऐसे में जिला पूर्ति अधिकारी को आवश्यक वस्तुओं और खाद्य सामग्री की आपूर्ति कराने का निर्देश दिया है।

बाजारों में एहतियात बरतने का निर्देश
कोरोना की रफ्तार धीमी पड़ने पर प्रशासन का जिले में सोशल डिस्टेंस को लेकर फोकस हट गया था। जिलाधिकारी ने एक बाद फिर से लोगों से सार्वजनिक स्थानों पर जाते वक्त मास्क का उपयोग करने की अपील की है। उन्होंने बाजारों और भीड़भाड़ वाले स्थानों पर सोशल डिस्टेंस के नियम के अनुपालन का निर्देश भी दिया है।

कोरोना के आठ नए मरीज
उत्तराखंड में गुरुवार को कोरोना के आठ नए मरीज मिले और 31 मरीजों को इलाज के बाद डिस्चार्ज किया गया। स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन के अनुसार गुरुवार को सबसे अधिक पांच नए मरीज देहरादून जिले में मिले हैं। जबकि अल्मोड़ा में एक, हरिद्वार में एक यूएस नगर में भी एक नया मरीज मिला है। राज्य भर में सात हजार के करीब सैंपलों की रिपोर्ट आई जबकि 7500 के करीब सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। राज्य में संक्रमण की दर 0.12 प्रतिशत जबकि मरीजों के ठीक होने की दर 96 प्रतिशत चल रही है। गुरुवार को राज्यभर में 61 हजार से अधिक लोगों को कोरोना रोधी टीके लगाए गए हैं।