कांग्रेस सत्ता में आई तो 400 यूनिट बिजली फ्री देगी: हरीश रावत

0
125
हरीश रावत

पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव हरीश रावत ने नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल की ताजपोशी के मौके पर कहा कि कांग्रेस सरकार में आई तो 100 नहीं 400 यूनिट बिजली निशुल्क दी जाएगी। पार्टी मुख्यालय में कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल और चार कार्यकारी अध्यक्षों के साथ नेता प्रतिपक्ष के स्वागत कार्यक्रम में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यह बात कही।

कांग्रेस मुख्यालय पहुंचने पर प्रदेश प्रवक्ता गरिमा दसौनी, प्रदेश सचिव प्रणिता बडोनी और शांति रावत ने नवनियुक्त अध्यक्ष गणेश गोदियाल का पारंपरिक वेशभूषा में रीति रिवाज के साथ टीका लगाया। नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने प्रदेश कार्यालय में चार कार्यकारी अध्यक्षों के साथ पदभार ग्रहण किया।

हरीश रावत ने आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह भरा। उन्होंने कहा कि राज्य में डबल इंजन की सरकार पूरी तरह से विफल है। उन्होंने कहा कि गणेश गोदियाल के अनुभव का लाभ मिलेगा। हम सड़क से लेकर सदन तक सरकार की विफलताओं को उजागर करेंगे।

हरीश रावत ने केजरीवाल का नाम लिए बिना कहा कि अब गुजरात मॉडल के बाद दिल्ली कनॉट प्लेस का डुगडुगी बाज राज्य में सत्ता की चाहत में झांसा दे रहा है। दिल्ली मॉडल की झूठी कहानी के बहाने यहां के लोगों को गुमराह किया जा रहा है। साढ़े सात साल से अधिक के शासन में एक भी मेडिकल कॉलेज, इंजीनियरिंग कॉलेज दिल्ली मॉडल नहीं खोल पाई। यहीं नहीं दिल्ली में आज तक लोगों को पानी जो सरकार उपलब्ध नहीं करा पाई वह दिल्ली मॉडल राज्य में कैसे काम करेगा। यह समझ से परे है।

हरीश रावत ने अपने तीन साल के कार्यकाल की उपलब्धियों को गिनाते हुए कहा कि एक नहीं कई मेडिकल कॉलेज और इंजीनियरिंग कॉलेज के साथ 35 हजार से अधिक नौजवानों को सरकारी नौकरी दी। अगर कांग्रेस की सरकार आती है तो राज्य में बिजली की व्यवस्था चुस्त कर दी जाएगी। पहले साल में 100 यूनिट बिजली बिल और दूसरे साल में 200 यूनिट इसी तरह चार सौ यूनिट से अधिक बिजली बिल निशुल्क दी जाएगी। उन्होंने कहा कि दिल्ली में बिजली महंगी है फिर भी मॉडल की बात कही जा रही है। राज्य की जनता इनके झूठे बहकावे में नहीं आने वाली है।

हरीश रावत ने कहा कि राज्य में रोजगार देने में भाजपा सरकार पूरी तरह विफल साबित हुई है। भाजपा के दो पूर्व और वर्तमान मुख्यमंत्री का आंकड़ा अलग-अलग है। सच्चाई यह है कि सात हजार लोगों को डबल इंजन की सरकार में रोजगार नहीं मिला।

पूर्व मुख्यमंत्री रावत ने कहा कि राज्य में भू-कानून को लेकर कांग्रेस की सोच स्पष्ट है। उत्तराखंडियत और यहां की अस्मिता के साथ मजाक को सहन नहीं किया जाएगा। राज्य में महिलाओं की भागीदारी को बढ़ाया जाएगा। कांग्रेस महिलाओं के सम्मान की पक्षधर रही है। हरीश रावत ने इशारों में कहा कि अब इधर देखो उधर नहीं। मेरे पास राज्य के विकास के लिए पूरा रोडमैप तैयार है। बढ़ती बेरोजगारी को कांग्रेस की सरकार आते ही कम कर दिया जाएगा। बस कांग्रेस को चुनाव जीतना है।

कांग्रेस मुख्यालय में बारिश को देखते हुए वाटर प्रूफ शामियाना लगाया गया। जगह-जगह स्वागत बैनर और होर्डिंग्स लगाए गए। नए अध्यक्ष के स्वागत के लिए राज्य भर से कांग्रेस कार्यकर्ता आए।