ऋषिकेश में कांग्रेस का तीन दिवसीय प्रदेश स्तरीय मंथन शिविर शुरू

0
114
कांग्रेस

राज्य के वर्ष 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव को देखते हुए उत्तराखंड कांग्रेस कमेटी का आज से ऋषिकेश में तीन दिवसीय चुनाव विचार मंथन शिविर शुरू हुआ। शिविर में कार्यकर्ताओं को चुनाव के लिए अभी से सक्रिय होने और घर घर जनसंपर्क कर भाजपा की कमियों के प्रति लोगों को जागरूक करने के निर्देश दिए गए।

मंगलवार को शिविर में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष गणेश गोदियाल ने पहले कांग्रेस कार्यकारिणी के पदाधिकारियों का परिचय जाना और ब्लॉक स्तर तक के पदाधिकारियों से कांग्रेस की वर्तमान स्थिति के बारे में जानकारी की। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को अभी से सक्रिय होने निर्देश देते हुए कहा कि चुनाव के लिए अभी से जुट जाएं, जिससे उनकी कार्यक्षमता का लाभ चुनाव में मिलेगा। गोदियाल ने कहा कि जेल वार्ड इकाइयों का गठन नहीं किया गया, उनका गठन शीघ्र कर लिया जाए। गोदियाल ने कहा कि यह चुनाव कांग्रेस को उत्तराखंड में पुनर्जीवित किए जाने के साथ वर्ष 2024 में होने वाले लोकसभा चुनाव की दशा व दिशा भी तय करेगा। उन्होंने कहा कि कांग्रेस हाईकमान के प्रदेश में किए गए संगठनात्मक परिवर्तन का असर उत्तराखंड के कांग्रेस कार्यकर्ताओं में दिखाई देना चाहिए। गोदियाल ने कहा कि भाजपा सरकार के दौरान प्रदेश में विकास कार्य पूरी तरह ठप हो गया है, कानून व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। इस सरकार में मुख्यमंत्री बदले जाने के अलावा कोई भी कार्य नहीं किया है। उन्होंने कांग्रेस कार्यकर्ताओं को घर-घर जाकर राज्य की जनता को जागरूक किए जाने की आवश्यकता पर जोर दिया।

कांग्रेस के इस तीन दिवसीय मंथन शिविर में प्रत्येक दिन कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ तीन सत्रों में कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष से लेकर वार्ड स्तर तक के कार्यकर्ताओं के साथ बैठकें होगी। आज की बैठक के प्रथम सत्र में कांग्रेस के प्रदेश प्रभारी देवेंद्र यादव प्रदेश, पूर्व कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह, राजेश धर्मआणि, दीपिका पांडे, किशोर उपाध्याय, प्रदीप टम्टा, काजी निजामुद्दीन, प्रोफेसर जीतराम भुवन चंद्र कापड़ी, तिलक राज बेहड़, रणजीत रावत, करण मेहरा और नरेंद्र जीत सिंह बिंद्रा सहित अन्य कांग्रेस कार्यकर्ता भी उपस्थित थे।