सीएम के फैसले ने बचाई शिक्षक जी जिंदगी

0
377

पौड़ी में लोकसभा चुनाव प्रचार की गहमागहमी है। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे हैं। इसी बीच उनके फोन पर खबर मिलती है कि गोपेश्वर में सड़क हादसे में एक शिक्षक बुरी तरह घायल हो गया। सीएम त्रिवेंद्र रैली के बीच में रुकते हैं, तुरंत अपने हेलिकॉप्टर को रेस्क्यू के लिए भेजते हैं। और इस तरह सड़क हादसे में घायल एक शिक्षक की जिंदगी बच जाती है। ये वाकया फिर याद दिलाता है, कैसे सीएम उत्तराखंड की जनता के लिए चुनावी व्यस्तता के बावजूद दरियादिल रहते हैं।

दरअसल सीएम त्रिवेंद्र पौड़ी में भाजपा प्रत्याशी तीरथ सिंह रावत के पक्ष में प्रचार कर रहे थे, इसी दौरान विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे। अचानक उनके फोन पर मदद की गुहार आती है। बताया जाता है कि राजकीय इंटर कॉलेज गोपेशवर में तैनात शिक्षक अनूप खंडूड़ी एक सड़क हादसे में बुरी तरह घायल हो गए हैं। चुनावी आचार संहिता के चलते रेस्क्यू और आवागमन के लिए साधनों की सीमितता है। इस स्थित में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने तुरंत फैसला लेते हुए अपना चॉपर घायल शिक्षक के रेस्क्यू के लिए भेजा, और उसी चॉपर के जरिए घायल शिक्षक को गोपेश्वर से श्रीनगर बेस अस्पताल लाया गया। सीएम त्रिवेंद्र के इस त्वरित फैसले से एक घायल शिक्षक की जान बचाई जा सकी। सीएम ने डॉक्टरों को शिक्षक के उचित उपचार के भी निर्देश दिए हैं।

इससे पहले भी मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत अपनी दरियादिली दिखा चुके हैं। प्रदेश में कई लोगों के इमरजेंसी रेस्क्यू के सीएम के आदेश पर चॉपर मुहैया करवाया जा चुका है। पहले भी सड़क हादसे मे घायल नागरिक को सीएम खुद अपने काफिले से अस्पताल पहुंचा चुके हैं।