देवीधुरा के बग्वाल मेले में पहुंचे मुख्यमंत्री धामी, मां वाराही मंदिर में की पूजा अर्चना

0
46

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने शुक्रवार को चंपावत जिले के देवीधुरा स्थित मां वाराही धाम में लगने वाले प्रसिद्ध बग्वाल मेले में प्रतिभाग किया। इस दौरान मुख्यमंत्री ने मां वाराही मंदिर में विधि विधान से पूजा अर्चना कर राज्य की खुशहाली की कामना की एवं मां वाराही धाम में चार खाम सात थोक के बीच खेले जाने वाले प्रसिद्ध पाषाण युद्ध के साक्षी बने। इस अवसर पर उन्होंने देवीधुरा में पुलिस चौकी का निर्माण कार्य किए जाने की घोषणा की।

लाखों की संख्या में आएं श्रद्धालुओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा की संस्कृति और संस्कार के इस उत्तराखंड प्रदेश के चम्पावत, देवीधुरा में स्थित मां वाराही धाम को शीश झुकाकर कोटिश: प्रणाम करता हूं। इस क्षेत्र में अवस्थित भीम शिला, आदि शक्ति गुफा, एवं समस्त देवी – देवताओं के आशीर्वाद से 2021 को बग्वाल मेले को राजकीय मेला घोषित किया गया था। कोरोना काल में दो साल से प्रतीकात्मक बग्वाल आयोजित की जा रही थी, लेकिन इस बार क्विंटलों फूलों, फलों से सजाया गए इस दरबार में धार्मिक कार्यक्रम के अलावा सांस्कृतिक गतिविधियां सहित मेले का भव्य रूप से आयोजन हो रहा है। उन्होंने कहा कि इस रक्षा बन्धन के शुभ अवसर पर बग्वाल युक्त इस मेले से देवीधुरा चम्पावत की प्रसिद्धि पूरे देश भर में ही नहीं अपितु विदेशों में भी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जोशीमठ के सितूण में स्थित माता सीता के 04 दशक एवं 02 वर्ष बाद हो रहे महायज्ञ में जाने का अवसर प्राप्त हुआ था। वहां माता सीता जी को प्रसन्न किये जाने हेतु उनकी विराजमान पाषाण शिला की अर्चना की जाती है। यहां मां वाराही देवी को प्रसन्न किये जाने हेतु पाषाण युद्ध अर्थात बग्वाल खेला जाता है। उन्होंने कहा देवीधुरा के बग्वाल पूजन से क्षेत्र में खुशहाली आए, फसलों की अच्छी पैदावार हो, क्षेत्रवासी रोगमुक्त हों, निवासियों को अन्न-धन की प्राप्ति हो, ऐसी मेरी प्रार्थना है। उन्होंने कहा कुमायूं के प्राचीन मंदिरों को भव्य बनाने के लिए मानसखण्ड मंदिर माला मिशन की शुरुआत की गई है। इस मिशन के अन्तर्गत ही मां वाराही धाम देवीधुरा को भी जोड़ा जाएगा।

धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केदारनाथ मंदिर का भव्य एवं दिव्य निर्माण कार्य हुआ। इसके साथ ही बदरीनाथ धाम का निर्माण कार्य भी तेजी से किया जाएगा। चार धाम यात्रा में इस साल रिकॉर्ड तोड़ श्रद्धालु आ रहे हैं। उन्होंने कहा ऑल वेदर रोड के निर्माण कार्य से पर्यटक एवं श्रद्धालुओं का सफर सुगम एवं सुरक्षित हुआ है। संपूर्ण देश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में आजादी का अमृत महोत्सव मना रहा, है जिसके अंतर्गत 60 हजार से भी ज्यादा कार्यक्रम विभिन्न क्षेत्रों में चल रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने संकल्प लिया है कि हम उत्तराखंड राज्य के 25वें राज्य स्थापना दिवस पर देश के सर्वश्रेष्ठ राज्य बने।

इससे पूर्व देवीधुरा के खोलीखांण दुबाचौड़ा मैदान में विश्व प्रसिद्ध बग्वाल (पाषाण युद्ध) खेला गया। मेले का मुख्य आकर्षण पाषाण युद्ध मां बाराही धाम मंदिर के पंडित कीर्ति वल्लभ जोशी और भुवन चंद्र जोशी की शंख ध्वनि के साथ अपराह्न 1.51 से अपराह्न 2 बजे तक कुल 9 मिनट तक खेला गया। चंवर झुलाकर बग्वाल समाप्त होने का संकेत किया। बग्वाल पर विराम लगने के बाद चारों खामों के योद्धाओं ने गले मिल एक दूसरे का कुशलक्षेम पूछा। सकुशल वापसी के लिए मां के सम्मुख शीश नवाया। मेले में बग्वाली वीर और दर्शक घायल हुए। घायलों का चिकित्सा शिविर में डॉक्टरों की टीम ने इलाज किया।

इस अवसर पर सांसद अजय टम्टा, अध्यक्ष वन विकास निगम उत्तराखंड कैलाश चन्द्र गहतोड़ी, अध्यक्ष जिला पंचायत ज्योति राय, विधायक लोहाघाट खुशाल सिंह अधिकारी, भीमताल राम सिंह कैड़ा, पूर्व सांसद प्रदीप टम्टा, पूर्व सांसद महेंद्र पाल, पूर्व दर्जा मंत्री हयात सिंह मेहरा, ब्लॉक प्रमुख पाटी सुमन लता, बाराकोट विनीता फ़र्त्याल, चंपावत रेखा देवी, आयुक्त कुमाऊं दीपक रावत, पुलिस अधीक्षक देवेंद्र पींचा, मुख्य विकास अधिकारी आर एस रावत, एडीएम हेमंत कुमार वर्मा, मेला मजिस्ट्रेट/उपजिलाधिकारी पाटी मनीष बिष्ट, मंदिर समिति के संरक्षक लक्ष्मण सिंह लमगड़िया, अध्यक्ष खीम सिंह लमगड़िया, खाम प्रमुख त्रिलोक सिंह बिष्ट, गंगा सिंह चम्याल, बद्री सिंह बिष्ट, वीरेंद्र सिंह लमगड़िया एवं अन्य लोग मौजूद रहे।