चाइना-नेपाल बॉर्डर: गुंजी में 11 हजार फीट की ऊंचाई पर शिवोत्सव 21 से

0
85
गुंजी

जनपद के तहसील धारचूला के उच्च हिमालयी क्षेत्र,भगवान शिव की धरती मानसरोवर और आदि कैलाश यात्रा मार्ग के स्थान गुंजी में दो दिवसीय शिवोत्सव आगामी 20-21 अक्टूबर को आयोजित किया जाएगा।

शनिवार को पर्यटन आवास गृह धारचूला में जिलाधिकारी डा.आशीष चौहान ने शिवोत्सव के सफल आयोजन के लिए क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों और विभिन्न समुदाय के प्रतिनिधियों के संग बैठक की। उन्होंने बताया कि शिवोत्सव का मुख्य उद्देश्य स्थानीय संस्कृति को बढ़ावा देना है। राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्षेत्र में पर्यटन गतिविधियों आकर्षित करने के लिए संदेश देना है। इस आयोजन से क्षेत्र के पर्यटन को विशेष रूप से धार्मिक,पर्यटन को एक अलग पहचान मिलेगी। निश्चित रूप से यह शिवोत्सव देश विदेश में अपनी ख्याति उत्पन्न करेगा।

जिलाधिकारी डा.चौहान ने बताया कि शिवोत्सव के सफल आयोजन में स्थानीय लोगों की अहम भूमिका रहेगी। उन्होंने शिवोत्सव को दिव्य और भव्य रूप से सम्पन्न कराने के लिए स्थानीय लोगों से सहयोग की अपील की।

जिलाधिकारी ने बताया कि शिवोत्सव में स्थानीय संस्कृति से सम्बंधित कार्यक्रमों के साथ ही राष्ट्रीय एवं अंतराष्ट्रीय स्तर (नेपाल के रं छांगरू तथा तिंकर) के कलाकारों की भी प्रस्तुति रहेगी। विभिन्न सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ ही विभिन्न खेलकूद प्रतियोगिताएं घुड़ सवारी, वालीवाल,पैराग्लाइडिंग, राफ्टिंग, मोटर बाइकिंग का भी आयोजन किया जाएगा।

इसमें क्षेत्र प्रमुख धन सिंह धामी,पूर्व पालिकाध्यक्ष अशोक नबियाल,ग्राम प्रधान गुंजी सुरेश गुंज्याल, सरपंच लक्ष्मी गुंज्याल,गुमान बिष्ट,हरीश गुंज्याल, रुकुम बिष्ट की ओर से शिवोत्सव को सफल बनाने के लिए विभिन्न सुझाव दिए गए।

बैठक में जिलाधिकारी ने बताया कि शीघ्र ही एक-दो दिन में उपजिलाधिकारी धारचूला की ओर से सभी नोडल अधिकारियों और स्थानीय जनप्रतिनिधियों के साथ बैठक कर कार्यक्रम के संबंध में रूपरेखा तैयार की जाएगी।

इस बैठक में पुलिस अधीक्षक लोकेश्वर सिंह,क्षेत्र प्रमुख धन सिंह धामी, उप जिलाधिकारी धारचूला एके शुक्ला, सी.ओ.विनोद कुमार थापा, प्रधान गुजी सुरेश गुंज्याल, सरपंच लक्ष्मी गुंज्याल, समेत क्षेत्र के जनप्रतिनिधि विभागों के अधिकारी आदि उपस्थित रहे।