नागरिक संशोधन बिल पर हो रही हिंसा पर मुख्यमंत्री का पुलिस को अलर्ट आदेश

0
297

देहरादून, नागरिक संशोधन बिल पर मचे घमासान और हिंसा के बाद उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिह रावत ने उत्तराखंड पुलिस को अलर्ट रहने का आदेश दिया है और किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए तैयार रहने आदेश जारी किया है ।हाल ही में जामिया में हुई घटना के बाद जहां हिंसा की आंच देश के कई राज्यो में पहुँच गयी है। हाल ही में उत्तर प्रदेश के लखनऊ में हुई घटना के बाद उत्तराखंड सरकार भी सतर्क हो गयी है और उत्तराखंड पुलिस को भी सतर्क रहने को कहा गया है।

असम,जामिया और लखनऊ में हुई हिंसात्मक घटनाओं के बाद उत्तराखंड सरकार भी सतर्क हो गयी है, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिह रावत ने पुलिस प्रशाशन को अलर्ट रहने के निर्देश दिए हैं और किसी भी अप्रिय घटना से निपटने के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए हैं।वही इन घटनाओं के मध्येनजर पुलिस भी पूरी तरह अलर्ट है कई प्रदर्शनों को पुलिस ने इजाजत नही दी है, पुलिस इस मामले में कोई कोताही नही बरतना चाहती सभी जगहों पर पुलिस निगरानी रख रही है।

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिह रावत ने कहा कि राज्य में हिंसा फैलाने वालों पर कड़ी नजर रखी जा रही है।मुख्यमंत्री ने लोगो से अफवाहों पर ध्यान न देने की अपील की। उन्होने कहा कि लोग किसी के उकसावे में न आये और जो लोग उकसाने की कोशिश कर रहे हैं उन पर कार्यवाही होनी चाहिए और कुछ पर हुई भी है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इस बिल से किसी को अनावश्यक चिंता करने की जरूरत नही है क्योंकि किसी की नागरिकता को वापस नही लिया जा रहा बल्कि दी जा रही है, साथ ही मुख्यमंत्री ने प्रदेश की जनता का शांति बनाए रखने के लिए धन्यवाद भी अदा किया।

देहरादून डीजी कानून व्यवस्था अशोक कुमार ने कहा कि नागरिकता कानून पर हो रहे प्रदर्शन पर पुलिस की पैनी नजर है,सभी अलग अलग प्रदर्शन पर पैनी नजर है।किसी भी प्रदर्शन पर आपत्ति नही है लेकिन उत्पात पर पूरा एक्शन होगा।व्हाट्सप्प ग्रुप के एडमिन भी भड़काऊ बयानबाज़ी या फ़ोटो वायरल करने पर भी मुकदमा होगा साथ ही यूपी से सटी सीमाओं पर कप्तानों को अलर्ट किया है।”