चारधाम यात्रा की शुरुआत, ऋषिकेश में बढ़ने लगी श्रद्धालुओं की भीड़

0
143
Pilgrims, Registration,Chardham Yatra,Uttarakhand
Pilgrims for registration

उत्तराखंड में चारधाम यात्रा लगभग शुरु हो चुकी है। मंगलवार को गंगोत्री धाम के कपाट खुलने के साथ ही यात्रा की शुरुआत हो जाएगी।प्रशासन की मानें तो यात्रा व्यवस्थाएं चाक चौबंद है।चारधाम के लिए यात्रियों का कारवां आस्था पथ पर निकल पड़ा है।यात्रा के शुरुआत से ही चारधाम यात्रा के प्रवेश द्वार ऋषिकेश में लोग पैदल के साथ-साथ बसों और दूसरी गाड़ियों में यात्रा के लिए पंजीकरण करा रहे हैं।

उत्तराखंड की प्रसिद्ध तीर्थयात्रा पर आज भी हजारों की संख्या में तीर्थयात्री पैदल ही यात्रा करते हैं। इनमें ज्यादातर साधू-संन्यासी और आर्थिक रूप से कमजोर लोग होते हैं। देश भर में होने वाले विभिन्न धार्मिक आयोजनों में शिरकत करने के बाद विभिन्न अखाड़ों से जुड़े साधू-संत चारधाम यात्रा में समूह बनाकर पैदल ही यात्रा शुरू कर देते हैं।

ऋषिकेश में बस टर्मिनल कंपाउंड स्थित चारधाम यात्रा के पंजीकरण काउंटर पर हजारों लोग हर रोज रजिस्ट्रेशन करा रहे हैं। जबकि यात्रा के नजदीक आते ही अब यह आंकड़ा बढ़ने लगा है।

यात्रा के पहले दिन यानि की मंगलवार को सुबह 10ः10 तक

चार धाम यात्रा मॉर्निंग फोटोमेट्रिक पंजीकरण रिपोर्ट

  • बस स्टैंड ऋषिकेश = 916
  • राही मोटल हरिद्वार = 76
  • रेलवे स्टेशन हरिद्वार = 23
  • दोबाता = 05
  • हिना = 43

कुल = 1063

अब तक 6933 ने कराया पंजीकरणः चारधाम यात्रा के लिए अब तक 6933 यात्री पंजीकरण करा चुके हैं। चारधाम यात्रा के लिए फोटोमैट्रिक पंजीकरण का काम संभालने वाली त्रिलोक सेक्योरिटी सिस्टम के सुपरवाइजर प्रेम अनंत ने बताया कि इस बार ऑनलाइन पंजीकरण का भी अच्छा रिस्पांस आ रहा है। ना केवल भारत से बल्कि विदेशी लोग भी बड़ी संख्या में बुकिंग करा रहे।जहां मंगलवार को विदेशी टूरिस्ट की संख्या 61 रही वहीं अब तक कुल 305 विदेशियों ने रजिस्ट्रेशन कराया है।

चारधाम  के स्वागत द्वार ऋषिकेश में बड़ी संख्या में लोग रजिस्ट्रेशन काउंटर में लाइन लगा कर बुकिंग करा रहे हैं।चारधाम यात्रा में वर्ष 2019 की यात्रियों की संख्याआगे बढ़ने की संभावना की जा रही है। अब हर वर्ष यात्रा के सामने अपने पिछले रिकार्ड को तोड़ने की ही चुनौती है। सात मई को गंगोत्री-युमुनोत्री, नौ को केदारनाथ और दस मई को बदरीनाथ धाम के कपाट खुलेंगे।

पर्यटन विकास परिषद में वर्ष 2013 की आपदा के बाद से हर वर्ष कंट्रोल रूम की व्यवस्था की जा रही है। सुबह सात बजे से लेकर रात नौ बजे तक यह काम कर रहा है। कंट्रोल रूम से मौमस, परिवहन, होटल बुकिंग, वाहन बुकिंग, किराया, दूरी, स्वास्थ्य चेकअप, मोबाइल ऐप, पंजीकरण आदि की जानकारी दी जा रही है। कंट्रोल रूम के फोन नंबर 0135-2552628, 2552627 और 2552626 है। सात मई को गंगोत्री-युमुनोत्री, नौ को केदारनाथ और दस मई को बदरीनाथ धाम के कपाट खुलेंगे।