राज्यपाल के अभिभाषण के साथ बजट सत्र शुरू, विपक्ष का जोरदार हंगामा

0
291

राज्यपाल के अभिभाषण के साथ ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण में सोमवार को उत्तराखंड विधानसभा के बजट सत्र का आगाज हो गया। सत्र के पहले दिन विपक्ष ने सदन में जमकर हंगामा किया।

सोमवार पूर्वाह्न 11 बजे भराड़ीसैंण स्थित विधानसभा में पंचम विधानसभा के प्रथम सत्र की कार्यवाही वंदे मातरम् राष्ट्र गान के साथ शुरू हुई।

इससे पहले राज्यपाल ले. जनरल गुरमीत सिंह (सेनि) को सत्र में भाग लेने से पहले पुलिस की टुकड़ी ने गार्ड ऑफ आनर दिया। राज्यपाल ने जय हिन्द के साथ अपना उद्बोधन शुरू किया। इस दौरान राज्यपाल ने कहा कि देवभूमि के विकास के लिए सरकार संकल्पित है। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री के विश्वास 21वीं शताब्दी का तीसरा दशक उत्तराखंड को साकार करने के लिए कार्य किया जा रहा है। पूंजीगत व्यय में बढ़ोतरी के साथ आगामी पांच वर्षों में जीएसडीपी को दोगुना किया जाएगा। राज्यपाल 16 पृष्ठ का अभिभाषण पढ़ रहे हैं।

विधानसभा अध्यक्ष ऋतु खंडूडी भूषण ने विपक्ष के सभी विधायकों से शांति व्यवस्था बनाए रखने की अपील की है। इसके बाद भी विपक्षी विधायक नहीं माने। नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य, प्रीतम सिंह सहित विपक्षी विधायक अभिभाषण के दौरान वेल में आकर जमकर हंगामा कर विरोध कर रहे हैं। युवा मांगे सीबीआई के नारे लगा रहे हैं। हालांकि, राज्यपाल ने हंगामे के बावजूद भी अपना अभिभाषण पढ़ रहे हैं। सत्ता पक्ष के विधायकों ने राज्यपाल के अभिभाषण का मेजें थपथपाकर स्वागत किया।

विधानसभा का बजट सत्र 13 से शुरू होकर 18 मार्च तक चलेगा। कार्य मंत्रणा समिति की बैठक में 13 और 14 दो दिन का एजेंडा तय हुआ है।

14 मार्च (मंगलवार) को सदन के पटल पर अध्यादेशों को रखा जाना है। राज्यपाल के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव का प्रस्तुतीकरण, चर्चा और विधायी कार्य होंगे। आगे के उपनिवेश के लिए कार्य मंत्रणा समिति की बैठक 14 मार्च शाम को होगी।

नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्या ने नेतृत्व में कांग्रेस विधायक सत्र प्रारम्भ होने स्व. पहले भराड़ीसैंण विधानसभा के गेट पर धरना पर बैठकर पेपर लीक की सीबीआई मांग को लेकर विरोध प्रदर्शन किया। इस दौरान कांग्रेस विधायक सरकार के खिलाफ जमकर नारे लगा रहे हैं। उप नेता भुवन कापड़ी, प्रीतम सिंह सहित कांग्रेस के अन्य विधायक शामिल रहे।

इस मौके पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी विरोध कर रहे कांग्रेस विधायकों से मिले। कांग्रेस सदन से लेकर सड़क तक यूकेएसएसएससी पेपर लीक, बेरोजगारी, महंगाई,बदहाल कानून व्यवस्था को लेकर सरकार हमलावर है।

हरिद्वार ग्रामीण से कांग्रेस विधायक व पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत की बेटी अनुपमा रावत भोटिया जनजाति की पारंपरिक वेषभूषा में सत्र की कार्यवाही में भाग लेने के लिए पहुंची।