भाजपा ने चलाया सदस्यता अभियान 

0
74
देहरादून, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने  देशभर में सदस्यता अभियान की शुरुआत कर दी है। इसी कड़ी में देहरादून डूंगा हाउस में भी सदस्यता अभियान चलाया गया। भाजपा का लक्ष्य पूरे देश में पार्टी के सदस्यों की संख्या को 11 करोड़ से बढ़ाकर 20 करोड़ करने का है। इस क्रम में देशभर में भाजपा सदस्यता अभियान चला रही है।
बीजेपी की मातृसंस्था जनसंघ के संस्थापक श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती पर पार्टी द्वारा पूरे देश में मेगा सदस्यता अभियान की शुरुआत की गयी। राजधानी दून के एक स्थानीय होटल में सदस्यता अभियान की शुरूआत की गयी।
मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत की मौजूदगी में  चलाये गये इस सदस्यता अभियान में भारी संख्या में लोग मौजूद रहे और पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। लोगों की इस सदस्यता अभियान में भारी मौजूदगी को देखते हुए मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने कहा कि लोगों को अब देश व राज्य का विकास चाहिए और इसलिए वह भाजपा को मजबूत बनाना चाहते है। उन्होने कहा कि भाजपा  का लक्ष्य पूरे देश में  सदस्यता अभियान चलाकर कर पार्टी के सदस्यों की संख्या  11 करोड़ से आगे ले जाकर 20 करोड़ करना है। इस मौके पर टिहरी सांसद माला राजलक्ष्मी शाह, मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक हरबंस कपूर सहित कई नेता मौजूद रहे।
डाॅ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी के जन्म दिवस के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) जनपद चमोली के सभी विकास खंडों में सदस्यता अभियान की शुरूआत की। मुख्य कार्यक्रम जिला मुख्यालय गोपेश्वर में हुआ। बदरीनाथ के विधायक महेंद्र भट्ट व थराली की विधायक मुन्नी देवी शाह ने अभियान की शुरूआत की।
सदस्यता अभियान की शुरूआत करते हुए विधायकों ने कार्यकर्ताओं से कहा कि जनपद में 35 हजार से अधिक नये कार्यकर्ताओं को जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है। कहा कि प्रत्येक बूथ पर सौ नये सदस्य जोड़ने अनिवार्य है।  जिसके सभी कार्यकर्ताओं को एक जुट होकर कार्य करने की आवश्यकता है। कहा कि सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को भी जनता तक पहुंचाना हमारा दायित्व है ताकि सभी को इसका लाभ मिल सके।
चमोली जिले के थराली, गैरसैण, जोशीमठ, कर्णप्रयाग, गौचर समेत अनेक स्थानों पर शनिवार को भाजपा का सदस्या अभियान की शुरूआत हुई। इस मौके पर गजेंद्र रावत, राकेश जोशी, सतेंद्र असवाल, हर्षबर्धन मैठाणी, टीका प्रसाद मैखुरी, नंदी राणा, वीरेंद्र असवाल, महावीर रावत, अनीता डिमरी आदि मौजूद थे।